मंदसौर में बागियों पर कांग्रेस का अनुशासन का पाठ:अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे 7 कार्यकर्ताओं का 6 साल का निष्कासन

मंदसौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंदसौर में टिकट न मिलने से नाराज कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनावी मैदान में उतर गए ऐसे में अब बागी उम्मीदवारों से कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ रहा है लिहाजा कांग्रेस ने अनुशासन का डंडा चलाते हुए 7 कार्यकर्ताओं को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासन का फरमान जारी किया है । मंदसौर नगर पालिका के 3 वार्ड में कांग्रेस ने अनुशासन की कार्रवाई की है । इनमे पत्नियों के साथ पति को भी पार्टी में बाहर का रास्ता दिखाया है । हालांकि चुनाव के समय पार्टियां इस तरह की कार्रवाई करती है । लेकिन बाद में यही कठोरता रबर की तरह नरम हो जाती है । मन्दसौर नगर पालिका में टिकट ना मिलने ने नाराज कांग्रेस के कई कार्यकर्ता बागी मैदान में है। हालांकि कांग्रेस ने कई वार्डो में समन्वय बिठा लिया था लेकिन फिर भी कुछ कार्यकर्त्ता नही माने और मैदान में डटे रहे । अब यही बागी कांग्रेस अधिकृत प्रत्याशीयो के लिए मुसीबत बन रहे है । ऐसे कांग्रेस ने बागियों पर निष्काशन की कार्रवाई की है ।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष नवकृष्ण पाटील ने शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख की अनुशंसा पर मंदसौर नगर पालिका परिषद चुनाव में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशियो के खिलाफ चुनाव लड रहे बागी कांग्रेसजनो को निष्कासित करते हुये प्रार्थमिक सदस्यता से 6 साल के लिये निलंबित कर दिया है।

वार्ड क्रमांक 30 से नरगिस लियाकत नीलगर, लियाकत नीलगर, वार्ड क्रमांक 24 से श्रीमती केसर चुडेलिया, वार्ड क्रमांक 20 से श्रीमती मधुबाला अनिल मसानिया, अनिल मसानिया, श्रीमती ममता परमानंद चौहान एवं परमानंद चौहान की गतिविधि को पार्टी संविधान के खिलाफ करार देते हुये निष्कासन की कार्यवाही की है।

खबरें और भी हैं...