लोग आए दिन हो रहे हादसे का शिकार:कुरावन वाया टकरावद से शामगढ़ मार्ग 8 लेन वालों ने कर दिया खराब

कुरावन7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कुरावन से व्हाया टकरावद शामगढ़ तक का 14 में से 10 किमी मार्ग जर्जर है। गड्ढे व सड़क उखड़ जाने से आए दिन हादसे हो रहे हैं। जिम्मेदार अनदेखी कर रहे हैं। नागरिकों ने सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की। जिम्मेदार अधिकारी का कहना है 8 लेन वालों ने रोड खराब कर दी है। सुधारने को लेकर नोटिस दे रखा है।

कुरावन - शामगढ़ मार्ग को लेकर जिम्मेदार उदासीनता बरत रहे हैं। यह अनदेखी राहगीरों को भारी पड़ रही है। 10 किमी का मार्ग जर्जर हो गया, मार्ग पर गड्ढे हो गए लेकिन अभी तक किसी ने सुध नहीं ली। बारिश के समय में वाहनों के फिसलने का अंदेशा है। आए दिन इस मार्ग पर हादसे होते रहते हैं। इस मार्ग को लेकर विभागीय जिम्मेदारों ने लंबे समय से देख-रेख व दुरुस्त करने की जिम्मेदारी नहीं समझी। लापरवाही के कारण लोगों को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।

सांठगांठ से सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की बंद
बनी निवासी वीरेंद्र सिंह ने बताया की मार्ग पर आएं दिन छोटी- मोटी दुर्घटनाएं हो रही हैं। राहगीर भी परेशान होते हैं। मार्ग को लेकर सीएम हेल्पलाइन पर लोक निर्माण विभाग की शिकायत की थी लेकिन विभागीय लोगों की सांठगांठ से बिना बताए शिकायत को बंद कर दिया। नागरिकों का कहना है मार्ग के संबंध में कैबिनेट मंत्री हरदीपसिंह डंग को अवगत कराया लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

मेलखेड़ा- गरोठ अस्पताल से रेफर मामले इसी मार्ग से होकर जिला चिकित्सालय पहुंचते हैं। प्रतिदिन सैकड़ों राहगीरों, अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि भी जिला मुख्यालय जाने के लिए इस मार्ग का उपयोग करते हैं।

फिर हादसा, व्यक्ति घायल, 4 टांके आए
शनिवार को फिर हादसा हुआ। कुरावन निवासी कालूराम पिता गुलाबचंद राठौर (40) की शामगढ़ जाते वक्त जर्जर मार्ग के कारण गाड़ी फिसल गई। दुर्घटना में कालूराम घायल हो गए। मौके पर हरिपुरा निवासी ईश्वर कच्छावा ने घायल को शामगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। डॉक्टरों ने घायल के सिर में चोट आने से चार टांके लगाए और पैर में हल्का फ्रैक्चर बताया।

8-लेन वाले को बोल रखा है, नोटिस दिया
"8 लेन निर्माण के दौरान बड़े वाहनों की आवाजाही के चलते इस मार्ग की स्थिति है। इस संबंध में 8 लेन वाले को बोल रखा है, वह ठीक कर देंगे। मामले में संबंधित को नोटिस भेजा है।"
-कमल जैन, एसडीओ, लोनिवि गरोठ

खबरें और भी हैं...