सड़क ना होने से लोगों को परेशानी:मल्हारगढ़ में कीचड़ के बीच से निकलकर अंतिम संस्कार, गरोठ में बच्चों ने स्कूली वाहन को लगाया धक्का

मंदसौर19 दिन पहले

मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ और गरोठ विधानसभा से दो तस्वीर समाने आई है। जहां खराब सड़कों के कारण लोगों के हाल बेहाल है। पहली तस्वीर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा के विधानसभा क्षेत्र मल्हारगढ़ की है। इसमें दिखाई दे रहा है कि कैसे ग्रामीणों को अंतिम संस्कार में दिक्कत आ रही है। वहीं दूसरी तस्वीर गरोठ तहसील के भिलखेड़ी बड़ी है। यहां स्कूल वाहन फंसने के बाद बच्चे धक्का देकर वाहन को निकालने का प्रयास कर रहे है।

पहली तस्वीर- अंतिम संस्कार के लिए जद्दोजहद

अंतिम संस्कार के लिए शव को कंधे पर लेकर कीचड़ में से गुजरते हुए लोगों की ये फोटो प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा के विधानसभा क्षेत्र मल्हारगढ़ की है। ग्राम पंचायत लिलदा के गांव पित्याखेड़ी में अंतिम संस्कार करने के लिए ग्रामीणों को कीचड़ और पानी भरे हुए मार्ग से गुजरना पड़ रहा है।

गांव के सरपंच देवसिंह ने बताया कि 2019 की बाढ़ से मुक्तिधाम जर्जर हो गया था। इसके बाद यह नया बनाया जा रहा है। नदी नजदीक होने के कारण पानी भरा है। हाल ही में सहायक सचिव के बड़े पिता का निधन हो गया था, इसमें भी परेशानी आई। उन्होंने बताया की जल्द ही निराकरण करेंगे।

दूसरी तस्वीर- बच्चों ने स्कूली वाहन को लगाया धक्का

दूसरा मामला गरोठ तहसील के भिलखेड़ी बड़ी का है। यहां स्कूली बच्चों को आए दिन स्कूल वाहन निकालने के लिए परेशान होना पड़ता है। बच्चे स्कूल पहुंचने से पहले कीचड़ में फंसे वाहन को धक्का लगाकर निकालते है। ग्रामीण इसकी शिकायत कर बार जिम्मेदारों के साथ स्थानीय विधायक और क्षेत्र के मंत्री हरदीप सिंह डंग को कर चुके है।

ग्रामीणों ने बताया कि भिलखेड़ी बड़ी और भिलखेडी चोटी के बीच यह 800 मीटर का सड़क नहीं है। भिलखेड़ी छोटी में प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत सड़क बनी हुई है। जबकि दोनों गांवों के बीच महज 800 मीटर का यह टुकड़ा गड्ढेनुमा सड़क विहीन है। गांव में करीब 70 परिवार निवास करते है। सड़क नहीं बनने से ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। हर रोज कीचड़ और गड्ढों में वाहन फंस जाते है ।

खबरें और भी हैं...