• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Morena
  • Animal Husbandry Is Being Done On Platforms Made Of Lakhs Of Rupees For The Vegetable Market, Then There Is A Traffic Jam From The Market On The Highway.

परेशानी:सब्जी मंडी के लिए लाखों रुपए से बने चबूतरों पर हो रहा पशुपालन तो हाइवे पर आई मंडी से लग रहा ट्रैफिक जाम

मुरैना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुभाष नगर स्थित सब्जी मंडी के लिए बने चबूतरे, जहां दुकानदार नहीं बैठते। - Dainik Bhaskar
सुभाष नगर स्थित सब्जी मंडी के लिए बने चबूतरे, जहां दुकानदार नहीं बैठते।

एनएच-552, जो फाटक बाहर क्षेत्र से होकर गुजरता है, वह अवैध सब्जी मंडी से बदहाल है। यहां सब्जी बेचने वाले 100 से अधिक दुकानदार सड़क के एक साइड में हाथठेले व फुटपाथ पर दुकान सजाकर बैठे रहते हैं, जिसकी वजह से इस पूरे इलाके में दिनभर ट्रैफिक जाम होता है। जबकि इन दुकानदारों के लिए शहर के सुभाषनगर इलाके में लाखों रुपए खर्च कर टीनशेड युक्त चबूतरे बनाए गए हैं, लेकिन इन चबूतरों पर स्थानीय लोग पशुपालन कर रहे हैं और यहीं गोबर के ढेर भी लगा रहे हैं।

इससे चबूतरे के पास रहने वाले लोग भी गंदगी से परेशान है। स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर निगम सदर बाजार की तरह अगर लगातार 8 से 10 दिन कार्रवाई कर इन सब्जी विक्रेताओं पर अंकुश लगाए, तभी हालात सुधर सकते हैं।

सड़ी-गली सब्जियां सड़क पर फेंक जाते हैं दुकानदार
फाटक बाहर क्षेत्र में सब्जी बेचने के लिए आसपास ग्रामीण क्षेत्रों से 100 से अधिक किसान रोजाना आते हैं। देर शाम यह सब्जी विक्रेता घर लौटते वक्त सड़ी-गली व बची हुई सब्जियां सड़क किनारे फेंक जाते हैं। जिससे यहां आवारा मवेशियों का जमावड़ा लगा रहता है और राहगीरों को परेशानी होती है। रोजाना सुबह व शाम के वक्त इस क्षेत्र में सांडों की लड़ाई होना आम बात है। कई बार आवारा मवेशियों ने राहगीरों को चाेटिल भी किया है।

डिवाइडर पर भी सब्जी विक्रेताओं का अतिक्रमण
फाटक बाहर क्षेत्र की मुख्य सड़क पर बने डिवाइडर पर भी सब्जी विक्रेताओं ने अतिक्रमण कर रखा है। क्योंकि वे सब्जियों से भरे कट्‌टे व बोरे डिवाइडर पर रख लेते हैं। जिसके चलते डिवाइडर पर लगाए गए पौधों की सिंचाई नहीं हो पा रही है और पौधे सूखकर नष्ट हो रहे हैं। इतना ही नहीं सब्जी विक्रेताओं के कारण इस डिवाइडर का सौंदर्यीकरण भी नहीं हो पा रहा है।

सड़क के दोनों ओर 10-10 फीट तक दुकानदारों ने कर लिया है कब्जा
फाटक बाहर से अंबाह तिराहे तक मुख्य सड़क के दोनों ओर लगभग 500 से अधिक दुकानदार व्यवसाय कर रहे हैं। इन दुकानदारों ने नाले के ऊपर व इसके आगे 10-10 फीट तक अतिक्रमण कर रखा है। कोई यहां तखत रखकर दुकान चला रहा है, तो कोई सड़क पर सामान रखकर धंधा कर रहा है। बावजूद इसके अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है।

पीजी कॉलेज के पास सवारियां भर रहीं बसें व अन्य वाहन
फाटक बाहर क्षेत्र में यात्री बसों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। बावजूद इसके पीजी कॉलेज के सामने यात्री बसें सवारियां भर रहीं हैं। इसके अलावा दिमनी, माता बसैया, जींगनी, खेरा आदि गांव में जाने वाले ई-रिक्शा भी मुख्य सड़क पर लाइन लगाकर खड़े रहते हैं। जिससे इस क्षेत्र का आवागमन प्रभावित होने के साथ हादसा होने का भय बना हुआ है। इसके पीछे वजह यह है कि यात्री बसें व ई-रिक्शा स्टैंड पर खड़े न होकर फाटक बाहर मुख्य सड़क पर खड़े रहते हैं।

खबरें और भी हैं...