नर्मदापुरम में बीजेपी के बागियों को सजा:निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले मंडल उपाध्यक्ष सहित 22 नेता निष्कासित

नर्मदापुरमएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगरीय निकाय चुनाव में पार्षद पद के लिए पार्टी से बगावत 22 बीजेपी नेताओं को महंगी पड़ गई। भाजपा ने इन बागी नेताओं को 6 साल के लिए संगठन से बाहर का रास्ता दिखाया। 22 भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता नर्मदापुरम से है। जो नगर पालिका चुनाव में भाजपा संगठन के अधिकृत प्रत्याशी के सामने निर्दलीय चुनाव लड़ रहे है। निष्कासित होने वालों में नगर मंडल उपाध्यक्ष सुचित्रा यादव, माया केवट, महिला मोर्चा जिला मंत्री चित्रा शर्मा, वंदना शर्मा, वंदना करोड़े सहित 22 पदाधिकारी व कार्यकर्ता है। तीन दिन पहले इटारसी नगर पालिका में निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले 6 नेताओं को पार्टी ने 6 साल के लिए निष्कासित किया। संगठन की कार्रवाई से खलबली मच गई है।

पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा की चेतावनी के बाद भी 22 बागियों ने अपने नामांकन वापस नहीं लिए। जिसके बाद प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता ने चारों को निष्कासित किया।

इटारसी के 4 बीजेपी नेताओं को बाहर का रास्ता:पार्षद पद के लिए पार्टी से बगावत, 6 साल के लिए निष्कासित, नर्मदापुरम में इंतजार

खबरें और भी हैं...