नर्मदापुरम में धर्मांतरण मामले में FIR:हिन्दू धर्म के खिलाफ आदिवासियों को बरगलाने की कोशिश, 4 युवकों पर केस दर्ज

नर्मदापुरम।3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नर्मदापुरम जिले के आदिवासी ब्लाक केसला में धर्मांतरण करने का मामला सामने आया है। दूसरे जिलों से आए ईसाई धर्म का प्रचार करने वाले युवकों सहित 4 खिलाफ़ केस दर्ज हुआ है। केसला ब्लाक में धर्मांतरण के विरुद्ध पहली बड़ी कार्रवाई है। ब्लाक में लंबे समय से आदिवासी समाज के लोगों को बहला फुसला कर धर्म परिवर्तन कराने का सिलसिला जारी था।

सोमवार को भी ब्लाक के ग्राम मांदीखोह में नागपुर, सारणी से ईसाई प्रचारक पहुंचे। गांव में स्थानीय निवासी के घर पर आदिवासी समाज के लोगों को एकत्रित कर उन्हें ईसाई धर्म अपनाने के प्रेरित कर रहे थे, साथ ही ईसाई धर्म को हिंदू धर्म से श्रेष्ठ बताकर धार्मिक विद्वेष फैलाने का कार्य कर रहे थे। आदिवासियों परिवारों को ये युवक ईसाई धर्म अपनाने पर कई सुविधाओं का लाभ दिलाने का लालच भी दे रहे थे। इसकी सूचना भारतीय जनता युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष एवं मोरपानी क्षेत्र से जनपद सदस्य सुनील बाबा ठाकुर को मिली। जिस पर वे अपने साथी युवा मोर्चा के मीडिया प्रभारी विष्णु सिरोरिया एवं साथियों सहित उक्त स्थान पर पहुंचे। संपूर्ण घटनाक्रम देखकर केसला थाने पहुंचकर उन चार युवकों को थाने लेकर आए। जिसमें दो युवक राम शंकर उर्फ बंटी इक्का निवासी भूमकापुरा इटारसी और विनोद भुसारे निवासी मांदीखोह नर्मदापुरम जिले का है। जबकि दो युवक हरिकिशोर भुसारे निवासी ग्राम कोठीढोह सारणी बैतुल और नारायण उइके निवासी नागपुर है। चारों के खिलाफ धर्मांतरण करने के संबंध में एफआईआर दर्ज की।

पूर्व जनपद सदस्य सुनील बाबा ठाकुर ने बताया पूर्व में जनपद सदस्य रहते हुए उन्होंने केसला विकासखंड में चल रहे तथाकथित धर्मांतरण के विरुद्ध कई बार कार्रवाई करने की मांग उठा चुके हैं। कुछ दिनों पूर्व भी भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष शैलेंद्र दीक्षित एवं जिला मंत्री उमेश पटेल ने जिला भाजपा प्रभारी राकेश सिंह जादौन एवं भाजपा जिला अध्यक्ष माधव दास अग्रवाल की उपस्थिति में नर्मदापुरम जिले के प्रभारी मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह से मिलकर केसला विकासखंड में हो रहे तथाकथित धर्मांतरण के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने की मांग की थी। युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष सुनील बाबा ठाकुर के नेतृत्व में तत्परता से कार्रवाई करते हुए धर्मांतरण में लिप्त इन तथाकथित धार्मिक प्रचारकों के विरुद्ध केसला थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई।

खबरें और भी हैं...