एक दिन बाद सामने आया मॉब लिंचिंग का VIDEO:सिवनी-मालवा में भीड़ डंडों से पीटती रही, लोगों ने बचाया नहीं होता तो दो और भी मारे जाते

धर्मेंद्र दीवान / शशांक मिश्रा। नर्मदापुरम4 महीने पहले

मध्यप्रदेश के नर्मदापुरम जिले के सिवनी-मालवा में हुई मॉब लिंचिंग का VIDEO एक दिन बाद सामने आया है। वीडियो में आक्रोशित भीड़ लाठी-डंडों से पीटती दिख रही है। मारो-मारो चिल्लाते रहे। लहूलुहान और अधमरा होने तक रुके नहीं। पिटाई से एक की मौत हो गई। दो जख्मी हैं। वहां मौजूद कुछ लोगों ने बचाया नहीं होता तो दो और लोगों की मौत हो सकती थी। वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी है। अभी तक चार को गिरफ्तार किया है। जिन्हें गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया।

घटना मंगलवार रात करीब 12.30 बजे की है। तीन लोग ट्रक में गोवंश ठूंसकर ले जा रहे थे। इसमें से दो गायों की मौत हो गई। यह देख भीड़ ने तीनों की सामूहिक रूप से जानलेवा हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल तीनों को अस्पताल ले जाया गया, यहां नाजिर अहमद की मौत हो गई। ट्रक ड्राइवर शेख लाला और उसका साथी मुस्ताक अहमद जख्मी हैं।

एसपी गुरकरण सिंह ने बताया, ट्रक में अवैध रूप से 30 गायों को ले जाया जा रहा था। इन्हें सिवनी-मालवा के नंदरवाड़ा गांव से महाराष्ट्र के अ​​​​​​मरावती ले जा रहे थे। वाहन में महाराष्ट्र के अमरावती के लोग थे, जिनके साथ 10 से 12 लोगों ने मारपीट की। हत्या का मामला दर्ज किया गया है, साथ ही अवैध रूप से गोवंश तस्करी का मामला भी दर्ज किया है।

ट्रक ड्राइवर शेख लाला और पीछे बैठा उसका मुस्ताक अहमद।
ट्रक ड्राइवर शेख लाला और पीछे बैठा उसका मुस्ताक अहमद।

पुलिस को सेठी नाम के शख्स की तलाश

नर्मदापुरम के मॉब लिंचिंग मामले में पुलिस एक नए किरदार की तलाश कर रही है। सेठी नाम के इस शख्स ने भीड़ के गुस्से का शिकार हुए तीन लोगों को मवेशी भरने के लिए नंदरवाड़ा गांव (सिवनी मालवा, नर्मदापुरम) बुलाया था। गायों को अमरावती (महाराष्ट्र) ले जा रहे ट्रक ड्राइवर शेख लाला ने पुलिस को बताया है कि सेठी ने उसे 2 अगस्त कॉल किया था। TI जितेंद्र सिंह ने बताया कि सेठी की जानकारी जुटाने के लिए ड्राइवर और उस नंबर की कॉल डिटेल निकाल रहे हैं।

ड्राइवर लाला के मुताबिक...

कॉल आने पर मैं 2 अगस्त को अपना ट्रक (MH40CD8751) लेकर अमरावती से नंदरवाड़ा के लिए निकला। साथ में नाजिर अहमद (हमले में नाजिर की मौत हो गई) और मुस्ताक अहमद थे। शाम करीब 6 बजे नंदरवाड़ा पहुंचे। सेठी ने नहर किनारे ट्रक खड़ा कराकर मवेशी भरवा दिए। रात 11.45 बजे हम लोग अमरावती के लिए निकले। 10km आगे बराखड़ गांव में लोगों ने हमें रोक लिया। सड़क पर बैरिकेड्स लगा दिए। जैसे ही आगे बढ़े, बचने की कोशिश में गाड़ी उतरकर नीचे एक खेत में जा घुसी। लोगों ने बिना कुछ पूछे हमें पीटना शुरू कर दिया।

ट्रक में 30 गायों को ठूंस-ठूंसकर भरा गया था।
ट्रक में 30 गायों को ठूंस-ठूंसकर भरा गया था।

पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया
पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इन पर हत्या और बलवा का केस दर्ज किया गया है। आरोपियों में गौरव पिता बसंत यादव (21) आकाश सराठे पिता संतोष सराठे (30) राही चौक सिवनी मालवा, राजू उर्फ राजेंद्र पिता राधेश्याम कौशल (35) लोधी मोहल्ला सिवनी मालवा, आकाश उर्फ पिंटूजी पिता ओमप्रकाश बाथम (28) कोलीपुरा सिवनी मालवा शामिल है। अन्य लोगों की पहचान की जा रही जारी है। इधर, पशु तस्करी के मामले में पुलिस ने मृतक नजीर अहमद, शेख लाला, मुस्ताक अहमद तीनों निवासी अमरावती के खिलाफ पशु क्रूरता व तस्करी का अपराध दर्ज किया है।

गायों को नंदेरवाड़ा से अमरावती ले जा रहे थे: घायल शेख लाला

भीड़ के हमले में घायल शेख लाला ने दैनिक भास्कर को बताया कि हमने नंदेरवाड़ा गांव (सिवनी-मालवा,नर्मदापुरम) से मवेशी भरे थे। अमरावती ले जा रहे थे। गाड़ी लेकर 10km आगे ही गए होंगे, 50 से 60 लोग सामने खड़े थे। गाड़ी नीचे उतार दी। लोगों ने हमसे कुछ नहीं पूछा और पीटना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद पुलिस आ गई। हम तीन लोग थे, ​​​नाजिर अहमद, शेख लाल और मुस्ताक। तीनों को पुलिस अस्पताल ले कर गई, यहां मेरे एक साथी नाजिर की मौत हो गई।

MP में मॉब लिंचिंग, एक की मौत:सिवनी-मालवा में गायों को ले जा रहे युवकों पर हमला; घायल बोला- कुछ पूछा नहीं,पीटना शुरू कर दिया

खबरें और भी हैं...