ठोस,तरल अपशिष्ट प्रबंधन से प्रदेश में टाॅप:देश में नर्मदापुरम जिले का नाम रोशन, दिल्ली में मिला पुरुस्कार

नर्मदापुरम4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली में जिला पंचायत सीईओ मनोज सरयाम को सम्मान मिला। - Dainik Bhaskar
दिल्ली में जिला पंचायत सीईओ मनोज सरयाम को सम्मान मिला।

नर्मदापुरम जिले काे मप्र में ओडीएफ प्लस और ठोस एवं तरह अपशिष्ट प्रबंधन में पहला स्थान पाकर टॉप किया। प्रदेश में अव्वल रहने पर देश की राजधानी दिल्ली में नर्मदापुरम जिले को सम्मान मिला।

गांधी जयंती के अवसर पर भारत सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिलों को सम्मानित किया गया। जिसमें ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन में नर्मदापुरम जिला अव्वल रहा। जिला पंचायत के सीईओ मनोज सरियाम को दिल्ली में सम्मानित किया गया। कलेक्टर नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में नर्मदापुरम जिले में ग्रामीण स्वच्छता पर विशेष जोर दिया है। जिसके चलते ओडीएफ प्लस करने में जिले का स्थान मप्र में अव्वल रहा।

कलेक्टर सिंह के मार्गदर्शन में ग्रामीण इलाकों को स्वच्छ बनाकर जीवन शैली को स्वच्छ वातावरण बनाने की सार्थक पहल की गई। ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के तहत बुनियादी ढांचे जैसे खाद के गड्ढे, सोखने वाले गड्ढे, तालाब, शोधन संयंत्र आदि का भी निर्माण पंचायतों में शुरू कराया गया था। ऐसे निर्माण कार्यों से स्वच्छता में प्राथमिकता से कार्य हुए हैं। इसी तरह नर्मदापुरम जिला ओडीएफ प्लस ग्राम करने में प्रदेश में अग्रणी रहा है। 02 अक्टूबर को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय केबिनेट जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, केबीनेट मंत्री गिरिराज सिंह और केद्रीय जल शक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने जिपं सीईओ मनोज सरयाम को सम्मानित किया। जिले को ग्रामीण स्वच्छता के क्षेत्र में मिली इस उपलब्धि से जिला प्रशासन की ओर से कलेक्टर नीरज सिंह, अपर कलेक्टर मनोज ठाकुर सहित अन्य अधिकारियों के साथ ही जिला समन्वयक प्रीति बरकड़े, ब्लाक समन्वयक रामकुमार गौर, नितिन मालवीय, भवानी गाडरिया, दीपिका लाहोरिया, नेहा शर्मा, आशीष चौधरी सहित अन्य ने खुशी जाहिर की।

खबरें और भी हैं...