नर्मदापुरम में बिल्डर पर धोखाधड़ी की FIR:लाइफ-स्टाइल कॉलोनी के बिल्डर-मैनेजर की धोखेबाजी, 5 साल में भी नहीं दिया फ्लैट

नर्मदापुरमएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल तस्वीर। - Dainik Bhaskar
फाइल तस्वीर।

नर्मदापुरम शहर की महंगी और पॉश कॉलोनी लाइव-स्टाइल आरआरए हैरिटेज के बिल्डर पुष्कर शर्मा और उसके मैनेजर राजेश शर्मा पर धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ। बिल्डर और मैनेजर पर नासिक की फैमिली से 10.45 लाख रुपए लेने के बाद 5 साल में फ्लैट बनाकर न देने का आरोप है।

अच्छे आशियाने का सपना दिखाकर लोगों की जिंदगी भर की कमाई ठगने वाले बिल्डर पुष्कर शर्मा और मैनेजर ने 3 साल के अनुबंध के बाद भी ना फ्लैट बनाकर दिया और न राशि लौटाकर दी।

सोमवार को नासिक निवासी सुनीता देवी पति भीकमसिंह राजपूत ने बिल्डर्स पुष्कम शर्मा और उसके मैनेजर राजेश शर्मा पर पर्ल ब्लॉक के फ्लैट नंबर 3202 का निर्माण नहीं होने और पजेशन देने का झांसा देने की कोतवाली थाने में शिकायत की। पुलिस ने लाइफ स्टाइल आरआरए हैरिटेज के बिल्डर पुष्कर शर्मा और मैनेजर राजेश शर्मा के धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ।

पॉश कॉलोनी में फ्लैट लेने वाले 50 से ज्यादा लोग परेशान

मालाखेड़ी रोड स्थित पॉश कॉलोनी लाइफ स्टाइल आरआरए हेरीटेज कॉलोनी में 50 से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जो मकान का सौदा करने के बाद मकान नहीं मिलने के कारण परेशान है। मामले में नवंबर 2021 में कॉलोनी के लोगों ने एकजुट होकर कलेक्टर को शिकायत की थी अब तक प्रशासन केवल जांच में ही फंसा है। 6 महीने बाद भी सुनीता देवी ने केस दर्ज कराया।

ब्याज सहित 15.62 लाख रु. लौटाने का झांसा

गंगापुर रोड नासिक निवासी सुनीता देवी राजपूत ने पुलिस को दिए लिखित आवेदन में बताया कि पुष्कर शर्मा ने मेसर्स लाइफ स्टाइल आरआरए हैरिटेज का बिल्डर्स एवं संचालक बताते हुए कॉलोनी के पर्ल ब्लॉक में फ्लैट नंबर 3202 सेकंड फ्लोर पर बनाकर देने की बात कही थी। पुष्कर शर्मा ने सुनीता देवी के पक्ष में 2017 को अनुबंध किया। जिसके एवज में 10.45लाख रुपए महिला ने दिए थे। सुनीता देवी ने मकान निर्माण के बारे में पूछा तो पुष्कर शर्मा के सीनियर मैनेजर राजेश शर्मा ने 25 अप्रैल 2019 को एक पत्र लिखकर बताया कि आपके द्वारा बुक किए गए फ्लैट का कार्य प्रगति पर है, अनुबंध के अनुसार फ्लैट मार्च 2019 में देना था, फिर भी पजेशन की तारीख मार्च 2020 तक बढ़ाने की सूचना दी गई। आश्वासन दिया कि 31 मार्च 2019 तक जमा राशि पर 8.85प्रतिशत की वार्षिक दर से अप्रैल 2019 से पजेशन देने तक ब्याज दिया जाएगा। फिर बिल्डर पुष्कर शर्मा ने फ्लैट निर्माण करने में असमर्थता जाहिर करते हुए बुकिंग कैंसिल कर दी और राशि वापस देने के लिए 5 अगस्त 2019 को चैक भेजे। फिर 30 नवंबर 2020 को शर्मा ने पत्र भेजकर कहा कि वह 15.62 लाख रुपए आरटीजीएस से ट्रांसफर कर देगा। लेकिन उसने अभी तक राशि नहीं लौटाई।

खबरें और भी हैं...