सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में एंट्री आज से:टाइगर का दीदार करेंगे सैलानी, महिला ड्राइवर भी कराएंगी सैर

नर्मदापुरम4 महीने पहले

मप्र के सतपुड़ा टाइगर रिजर्व समेत 6 टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क 1 अक्टूबर शनिवार से खुल गए है। टूरिस्ट कोर एरिया में जाकर टाइगर्स के करीब से दीदार कर सकेंगे। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (एसटीआर) में इस बार पर्यटकों के लिए टूर ज्यादा रोमांचक होने वाला है। केवल जंगल सफारी नहीं यहां आने वाले पर्यटक वाटर राइडिंग, डेस्टिनेशन लंच और पारदर्शी कोच से नजारे देखने का मजा भी ले पाएंगे। साथ ही पहली बार सैलानियों को महिला ड्राइवर मढ़ई की सैर कराएंगी। इससे महिला सैलानियों में नाइट सफारी में करने का रोमांच बढ़ेगा। दशहरा और दीपावली की छुटि्टयों में भी आप घूम सकते हैं।

बारिश सहित अन्य कारणों से सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के गेट 30 जून को ही बंद किए थे। हर साल टाइगर रिजर्व क्षेत्र में 1 जुलाई से 30 सितंबर तक सैलानियों के प्रवेश पर रोक रहती है। शनिवार से गेट खुलने के बाद एसटीआर के मढ़ई, चूरना, बोरी में सैलानी जा सकेंगे।

50 से ज्यादा टाइगर्स, बारहसिंगा, चीतल

एसटीआर में करीब 50 से ज्यादा बाघ-बाघिन है। तेंदुआ, सांभर, चीतल, भेडकी, नीलगाय, चौसिंगा, चिंकारा, गौर, जंगली सूअर, जंगली कुत्ता, भालू, काला हिरण, लोमड़ी, साही, उड़न गिलहरी, मूषक मृग और भारतीय विशाल गिलहरी आदि पाए जाते हैं। यहां पक्षियों की भी अनेक प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमें धनेश और मोर प्रमुख हैं।

महिला ड्राइवर वर्षा और संगीता कराएंगी पर्यटकों को जंगल सफारी

एसटीआर में चूरना और मढ़ई में जंगल सफारी शुरू होगी। पहली बार सैलानियों को महिला ड्राइवर जिप्सी से मढ़ई की सैर कराएंगी। एसटीआर प्रबंधन ने नवाचार करते हुए 5 ड्राइवर प्रशिक्षित किया है। दो महिला सेहरा ग्राम की वर्षा उईके और संगीता सोलंकी को जिप्सी ड्राइवर के रूप में रखा गया है। मढ़ई कोर क्षेत्र में पर्यटकों को घुमाने के लिए गाइड के रूप में रखा गया है। महिला ड्राइवर का फायदा होगा कि मढ़ई घूमने आने वाली खासकर महिला पर्यटक नाइट सफारी के दौरान पुरुष ड्राइवर को ले जाना पसंद नहीं करती है। महिला ड्राइवर आने से महिला पर्यटकों का आत्मबल बढ़ेगा। इससे स्थानीय महिला ड्राइवर को भी रोजगार मिलेगा। महिला सशक्तिकरण के तहत एसटीआर प्रबंधन ने पिछले साल 10 महिला गाइड को तैयार किया था। जो सैलानियों को जंगल सफारी कर नेशनल पार्क और यहां की खूबसूरती, इतिहास से परिचित कराती है। अकेला व्यक्ति भी सिंगल टिकट बुक कर सकता है। पूरी गाड़ी भी बुक की जा सकती है। इसी प्रकार सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के मालिक पाटन क्षेत्र में बगीरा एप का भी उपयोग 1 अक्टूबर से प्रारंभ किया गया है। जीपीएस आधारित एप है। इस एप के माध्यम से टाइगर रिजर्व प्रबंधन पार्क में चलने वाले वाहनों की गति सीमा पर नियंत्रण रखेगा।

ऐसे करा सकते हैं ऑनलाइन बुकिंग

Google पर www.mponline.gov.in पोर्टल सर्च करने पर 'राष्ट्रीय उद्यान' सिंबॉल पर क्लिक करेंगे तो ऑनलाइन बुकिंग की साइट खुल जाएगी। इसमें दिन के हिसाब से बुकिंग कराई जा सकती है।

तवा से परसापानी तक होगी बोट सफारी

एसटीआर पहला टाइगर रिजर्व है जहां जिप्सी ही नहीं, बल्कि जलमार्ग से जंगल सफारी कर सकेंगे। तवा रिसोर्ट से मढ़ई, परसापानी तक बोट और वहां से जिप्सी से जंगल सफारी कराई जाएगी। तवा से परसापानी के लिए भी जलमार्ग खोला है।

  • खर्च : जलपरी 10* पर्यटकों के लिए 1550 रुपए में। जंगल सफारी का खर्च अलग। तवा से परसापानी जलमार्ग का किराया 1350 रुपए।
  • बुकिंग : www.mponline.gov.in

ये भी पढ़े

एसटीआर में जंगल सफारी के अलावा पहली बार बोट सफारी

खबरें और भी हैं...