नर्मदापुरम! खेत में मिला चौकीदार का कंकाल:हत्या हुई या कुछ और ? 15 दिन पहले हुई मौत, जानवरों ने नोचने से बिखरें अंग

नर्मदापुरम11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नर्मदापुरम जिले के इटारसी के पास कासदा गांव में खेत की टपरिया में नरकंकाल मिला। कंकाल देख गांव में रविवार शाम को सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही पथरौटा पुलिस मौके पर पहुंची। कपड़े कंकाल की पहचान चीपापुरा ग्राम निवासी 55 वर्षीय लखन काजले पिता घीसूलाल काजले के रुप में हुई। मृतक गांव के गणेश उइके के खेत में चौकीदारी करता था। लखन काजले की मृत्यु करीब 15 दिन पहले का अनुमान लगाया जा रहा है। इसी वजह से उसके शरीर का मांस सड़कर खत्म हो गया होगा। कंकाल के टुकडे भी बिखरे हुए मिले हैं। आशंका है कि जानवरों ने अथवा कुत्तों ने नाेचकर शरीर के अंग बिखरा दिए। मृतक के कंकाल को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जा रहा है। फोरेंसिक जांच में ही मृत्यु का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

जानकारी के मुताबिक लखन काजले निवासी चीपापुरा बाबई खुर्द में रहता है। जो कासदा गांव से लगभग 5 सौ मीटर दूर गणेश उइके के खेत की रखवाली करता था। वह रात में खेत में बनी टपरी में सोता था। खाना भी वह वहीं बनाता था। घर कभी-कभी जाता था। विगत दिनों उसका बेटा भोपाल से घर आया था तभी मृतक भी अपने घर गया था। 28 अगस्त को उसने अपने पिता को खेत में छोड़कर भोपाल चला गया। रविवार को वह भोपाल से गांव लौटा। जिसके बाद वह अपने पिता से मिलने के लिए खेत पहुंचा, जहां कंकाल देखकर उसके होश उड़ गए। उसने गांव में आकर सभी यह कंकाल के बारे में बताया। सूचना पर एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान, पथरौटा थाना प्रभारी प्रवीण चौहान स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे। थाना प्रभारी प्रवीण चौहान ने बताया उसकी मौत कैसे हुई इसका खुलासा फोरेंसिक जांच के बाद ही होगा। मौत 15 दिन पहले हुई होगी। शरीर का मांस गायब था। कंकाल के टुकड़े बिखरे हुए मिले हैं। आशंका है कि जानवरों ने अथवा कुत्तों ने उसे नोचा होगा।

खबरें और भी हैं...