एडीआरएम ने रेप के आरोप को बताया गलत:महिला का पति से पहले से है विवाद, तलाक का भिजवाया नोटिस, हत्या की जताई थी आशंका

नर्मदापुरम9 दिन पहले
एडीआरएम गौरव सिंह।

पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल मंडल के एडीआरएम (अतिरिक्त मंडल प्रबंधक) गौरव सिंह पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता शादीशुदा है। 18 फरवरी को 3 माह पहले ही हरदा के युवक से उसकी शादी हुई। उसका पति से विवाद चल रहा है। पति से तालमेल न बैठ पाने से उसने अधिवक्ता के जरिए पति को तलाक का नोटिस भेजवा चुकी है। 13 अप्रैल को उसने पति को नोटिस भिजवाया। पति ने भी पत्नी और एडीआरएम पर धोखे से शादी करने और 25 लाख हड़पने का आरोप लगाया है। पति ने नर्मदापुराम आईजी दीपिका सूरी, हरदा एसपी और भोपाल डीआरएम से की है। डीआरएम से एडीआरएम गौरव सिंह को निलंबित करने की मांग की है। मामला हाई-प्रोफाइल हो गया है। जिसमें अधिकारी भी कुछ भी खुलकर कहने से बच रहे है।

पति पर हत्या करने की जताई आशंका

13 अप्रैल को भोपाल के अधिवक्ता संजय सक्सेना द्वारा पीड़िता की तरफ से उसके पति को भेजे तलाक के नोटिस में पति हत्या करने की आशंका जताई। नोटिस में पति को साइको प्रवृत्ति का बताया है। पति या तो खुद गलत कदम उठा सकते और पक्षकार (पत्नी) को फंसा सकते या पक्षकार जान ले सकते है। ऐसे में पति के साथ वैवाहिक जीवन बिताना संभव न मानते हुए तलाक का नोटिस भिजवाया। नोटिस प्राप्त होने के 15 दिनों के भीतर भोपाल कोर्ट में उपस्थित तलाक लेने में आपसी सहमति की बात लिखी है।

मुझे झूठा फंसाया जा रहा, मैंने मदद की: एडीआरएम

रेप में आरोप में फंसे एडीआरएम गौरव सिंह ने आरोपों को झूठा बताया है। अनुकंपा नौकरी मिलने के बाद महिला ने स्वयं हरदा तबादला करवाया। शादी के बाद पति से विवाद और तालमेल न बैठने से उसने दोबारा आवेदन देकर भोपाल तबादला चाहा। मैं उसे रेलकर्मी होने के नाते जानता हूँ। उसके माता-पिता का देहांत हो चुका, मुझसे कभी मदद मांगी तो मानवीयता के नाते मैंने दायरे से आगे जाकर उसकी मदद की है। जिसे उसके पति ने गलत समझ बैठा है और वह अपनी ही पत्नी पर शंका करने लगा है। उसकी पत्नी दो बार ससुराल हरदा से दो बार निकल चुकी है। पत्नी ने शादी के कुछ दिनों बाद से ही पति-पत्नी के बीच विवाद शुरू हो गए। थाने में पत्नी ने चरित्र शंक करने,नोकरी न करने और अन्य पाबन्दियां लगाने की थाने में शिकायत भी है। जिसके जांच पुलिस कर रही है। पिपरिया में भी हाथ की नस काटने और पेन किलर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश के बयान में पहले पति पर ही प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे, तीसरी बार इस शर्त पर साथ रखने के लिए राजी हुआ है कि उसकी पत्नी मेरे खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कराएगी। मुझ पर झूठे आरोप लगे है। मैं जांच के लिए तैयार हूं।

नस काटने की घटना में कुछ भी बोलने से बचते रहे अधिकारी

5 मई की रात को महिला के पिपरिया पहुँचलार सुसाइड करने के लिए हाथ काटने की घटना में संबंध में पुलिस विभाग के अधिकारी कुछ भी कहने से बचते रहे। शुक्रवार को नर्मदापुरम एसपी ने महिला संबंधी मामला होने का कहकर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। आईजी दीपिका सूरी ने भी कहा कि अभी वो पीड़िता बहुत तनाव में है। बातचीत के बाद मामला क्लियर हो पाएगा।

पति की शिकायत पर जांच जारी

हरदा निवासी पति ने पत्नी और एडीआरएम पर शादी करवाकर सोने चांदी और नगद 25 लाख रुपए हड़पने और धोखेवाजी की शिकायत की है। जिसकी जांच हरदा पुलिस विभाग कर रहा है। पीड़िता के 5 मई और 4 मई को एडीआरएम गौरव सिंह के बयान हो चुके है।

भोपाल में सहकर्मी से रेप करता रहा रेलवे अफसर: पीड़िता ने काटी हाथ की नस, कहा- नौकरी के बदले शोषण कर रहा था

खबरें और भी हैं...