देव दीपावली 2022:कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर नर्मदा तट के गौ घाट पर पहुंचने लगे भक्त

सिवनी मालवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डोलरिया तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम टिगरिया में मां नर्मदा के पावन तट गौ घाट पर कार्तिक पूर्णिमा के उत्सव के पूर्व से ही श्रद्धालुओं की भीड़ स्नान व पूजन अर्चन करने पहुंची। गौ घाट मंदिर पुजारी ने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली के नाम से भी जाना जाता है। कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा भी कहते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर का वध किया था। इसके बाद देवताओं से प्रसन्न होकर काशी में सैकड़ों दीए जलाए थे।

सनातन धर्म में कार्तिक माह को सभी महीनों में सबसे शुभ फलदायी माना गया है। इस माह पड़ने वाले कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान के लिए पवित्र घाट के तट पर लाखों की भीड़ उमड़ती है। इस साल कार्तिक पूर्णिमा स्नान 8 नवंबर को है।

कार्तिक का महीना भगवान विष्णु का अत्यंत प्रिय महीना है। मान्यता है कि कार्तिक माह में भगवान विष्णु ने मत्स्य अवतार लिया था। साल में कुल 12 पूर्णिमा होती है। इनमें कार्तिक माह की पूर्णिमा का विशेष महत्व है। वहीं कार्तिक माह की पूर्णिमा को देव दीपावली के नाम से भी जाना जाता है।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन जो व्यक्ति किसी पवित्र घाट में स्नान और दान पुण्य करता है तो उसे इस पूरे महीने की गई पूजा पाठ के बराबर फल मिलता है। धार्मिक मान्यता है कि पूर्णिमा के दिन व्रत और पूजन करके बछड़ा दान करने से शिव तत्व और शिव लोक की प्राप्ति होती है।

सिवनी मालवा सहित डोलरिया तहसील के अंतर्गत आने वाले आंवली घाट, बाबरी घाट, भिलाडिया घाट सहित ग्वाड़ी घाट पर भी सैंकड़ो श्रद्धालु स्नान, दान एवं पूजन करने के लिए पहुँच रहें है।

खबरें और भी हैं...