मुस्लिमों ने किया हिंदू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार:परिजनों से आने से मना किया तो ढाबा मालिक किया क्रियाकर्म

सिवनी मालवा7 दिन पहले

नर्मदापुरम जिले की सिवनी मालवा में ढाबे पर काम करने वाले व्यक्ति की मौत हो गई। राधेश्याम गौर काफी समय से बीमार था। उसकी बुधवार को अस्पताल में मौत हो गई। ढाबा मालिक ने राधेश्याम गौर के परिजनों की इसकी सूचना दी, पर वे नहीं आए। ढाबा मालिक मुख्त्यार खान ने राधेश्याम का अंतिम संस्कार कराया।

मुख्त्यार खान ने बताया कि राधेश्याम गौर 20 वर्ष से उनके यहां काम करते थे। उनका घर आना-जाना भी नहीं था। वे यहीं रहते थे। राधेश्याम गौर सिवनी मालवा तहसील के ही पास के ग्राम सतवासा का रहने वाला था। मुख्त्यार खान ने बताया कि उन्होंने इनके परिजनों को सूचना दी गई थी। उन्होंने आने से साफ इनकार कर दिया।

नपा से नहीं मिली मदद

इसके बाद मुख्त्यार ने नगर पालिका को सूचना दी। वहां से भी कोई सहायता नहीं मिली। हिंदू रीति रिवाज के बारे में जानकारी नहीं होने पर उन्होंने अपने हिंदू मित्र से जानकारी लेकर अंतिम संस्कार किया।

खबरें और भी हैं...