चुनाव पर जद्दोजहद:नामांकन पत्रों की जांच के बाद फॉर्म उठवाने और न उठवाने के लिए गहमागहमी

नरसिंहपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नरसिंहपुर जिले की आठ नगरीय निकाय में होने रहे जा आम चुनाव को लेकर गहमागहमी का दौर जारी है। पार्षद पद के लिए टिकट के लिए जहां दोनों दलों में मारामारी रही।

वहीं अब नामांकन पत्र जमा करने के कार्य के बाद सोमवार को नामांकन पत्रों की जांच हुई और आपत्तियों पर सुनवाई हुई। कल बुधवार को नामांकन पत्र वापस लिए जा सकते हैं। दोनों दलों के कई वार्डों में बागी प्रत्याशी मैदान में हैं तो अनेक निर्दलीय प्रत्याशी भी हैं अनेक वार्डों में निर्दलीय और बागी उम्मीदवार भाजपा और कांग्रेस के गणित को प्रभावित कर सकते हैं।

यही कारण है कि कई स्थानों पर कांग्रेस भाजपा के अधिकृत उम्मीदवार और नेता ऐसे प्रत्याशियों के नाम वापस लेने के लिए प्रयास कर रहे हैं। वहीं अनेक स्थानों पर यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि निर्दलीय और बागी प्रत्याशी फार्म न उठा पाए।

सुविधा और राजनीतिक गणित के अनुसार अब निर्दलीय को लड़ाया जाए या उनके फार्म उठवाये जाएंगे नामांकन पत्रों की जांच के बाद अब यह दौर प्रारंभ हो गया है। सोमवार की शाम से ही दोनो दल अपने बागी प्रत्याशियों को मनाने में जुट गए थे। लोभ लालच के साथ दबाव भी बनाया जा रहा है फार्म उठवाने के लिए काम दंड भेद की नीति अपनाई जा रही है।

वहीं कई बागी तो भूमिगत हो गए हैं। जिससे उनसे कोई 22 तारीख तक संपर्क न कर सके। दूसरी और राजनैतिक समीकरण के अनुसार कई वार्डो में नेता निर्दलीयों को हर स्तर पर सहयोग देने की बात कर रहे हैं।

ऐसे निर्दलीय और बागी भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों के वोट को प्रभावित करेंगे। देखना है किसको कितनी सफलता मिलती है। जिले में 6 जुलाई को मतदान व 17 जुलाई को मतगणना होगी।

जिले में चार नगर पालिकाओं में नरसिंहपुर में 28, गाडरवारा में 24, गोटेगांव 15, करेली 15, जबकि चार नगर परिषदों में तेंदूखेड़ा, सांईखेड़ा, सालीचौका एवं चीचली में 15-15 वार्ड हैं। इस तरह जिले के आठ नगरीय निकायों में पार्षद के कुल 142 पदों के लिए चुनाव होना हैं।

खबरें और भी हैं...