जंगल में अवैध शराब ठिकाने पर छापा:चुनाव में इस्तेमाल के लिए भारी मात्रा में बनाई जा रही शराब, पुलिस ने की नष्ट

जावद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत चुनाव के लिए बड़े पैमाने पर जावद के जंगलों में अवैध कच्ची शराब बनाई जा रही है। ग्रामीण इलाकों में पुलिस के छापे में बड़ी संख्या में कच्ची शराब की भट्ठियां पकड़ी जा रही हैं। जावद पुलिस ने रात्रि में गांव बरखेड़ा जाट, ढाणी एवं समेल बंजारा में भारी मात्रा में अवैध कच्ची शराब बनाने के काम आने वाली 2000 लीटर लहान और उपकरण के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

थाना प्रभारी राजेश चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि आगामी त्रि-स्तरीय पंचायत और नगरीय निकाय के चुनाव को लेकर जिला पुलिस कप्तान द्वारा चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत में पुलिस टीम ने ग्राम में दबिश देते हुए जहां अवैध शराब के साथ दो आरोपी रमेश पिता दुर्गालाल बंजारा उम्र 30 वर्ष निवासी ढाणी से 10 लीटर, पन्नाबाई पति मूलचंद बंजारा उम्र 40 वर्ष निवासी समेल बंजारा मोरवन से 10 लीटर हाथ भट्टी की कच्ची शराब जब्त कर उनके विरुद्ध आबकारी अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही की गई है।

माफिया हुए सकिय

जावद ब्लॉक के अनेक इलाकों में चुनाव आते ही कच्ची शराब माफिया सक्रिय हो गए हैं। जावद के कई क्षेत्रों में मौत की भटि्टयां धधकने लगती हैं। चुनाव में वोटरों को शराब परोसने के लिए कच्ची से लेकर देसी और अंग्रेजी शराब परोसा जाना एक ट्रेंड बन गया है।

खबरें और भी हैं...