पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 1 1 Inch In Bhopal, Indore, Then, Sagar, Khargone Fell The Maximum Water Up To 4 Inches; Sagar, Raisen, Vidisha] Heavy Rain In Anuppur Till Evening

MP में 4 दिन होगी राहत की बारिश:विंध्य में आकाशीय बिजली गिरने से 2 लोगों की मौत, दो घायल; भोपाल-इंदौर में 1-1 इंच, सागर-खरगोन में सबसे ज्यादा 4 इंच तक पानी गिरा

भोपाल12 दिन पहले
भोपाल में कई दिनों से धूप छांव के बीच बारिश हो रही है। सोमवार को वीआईपी रोड पर धूप-छांव नजर आई। फोटो - शान बहादुर

बंगाल की खाड़ी में बने लो प्रेशर क्षेत्र के कारण मध्यप्रदेश के अधिकांश हिस्सों में राहत की बारिश जारी है। विंध्य क्षेत्र के रीवा में सोमवार सुबह आकाशीय बिजली ने कहर ढाया है। यहां दो जगह पर बिजली गिरने से एक महिला और एक लड़के की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए। साथ ही, बिजली की चपेट में आई 4 बकरियों ने भी दम तोड़ दिया।

पिछले 24 घंटों की बात करें, तो खरगोन में 4 इंच और सागर में करीब 3 इंच बारिश हो गई, जबकि इंदौर और भोपाल में भी 1-1 इंच तक पानी गिरा। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि आज बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र पूरी तरह सक्रिय होने की संभावना है।

इसी के कारण प्रदेश में अगले चार दिन तक बारिश का दौर जारी रहेगा। बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश के अधिकांश इलाकों में पानी गिरा है। सागर, खरगोन और विदिशा में अच्छी बारिश हुई। शाम तक सागर, रायसेन, रीवा, विदिशा और अनूपपुर जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। इंदौर और भोपाल में धूप-छांव के साथ रिमझिम बारिश जारी रहेगी।

बीते 24 घंटों में यह इलाके भीगे
सागर में 3 इंच, खरगोन के भगवानपुरा में 4 इंच, विदिशा के कुरवाई में 3.5 इंच, सीहोर के इछावर में 3.5 इंच, राजगढ़ के जीरापुर, देवास के खातेगांव, बुरहानपुर शहर, उज्जैन के झार्ड़ा, छिंदवाड़ा के चौराई और बालाघाट के बिरसा में 2-2 इंच पानी गिरा। इसके अलावा इंदौर के महू और खरगोन शहर में में 1.5-1.5 इंच, इंदौर शहर, भिंड के गोरमी, हरदा के टिमरनी, रायसेन के गैरतगंज, भोपाल और श्योपुरकलां में 1-1 इंच तक पानी गिर गया। मलजखंड, जबलपुर, खंडवा, नरसिंहपुर, दमोह, शाजापुर, मंडला, गुना, उमरिया, होशंगाबाद और ग्वालियर संभागों में पानी गिरा।

यह सिस्टम सक्रिय
वर्तमान में मॉनसून ट्रफ अनूपगढ़, हिसार, दिल्ली, हरदोई, सीधी, कोरबा, बालागीर और कलिंगपट्टनम से होते हुए पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक फैली है। पश्चिमोत्तर राजस्थान-पंजाब, कच्छ और मराठवाड़ा के क्षेत्रों में चक्रवातीय एक्टीविटी हैं। वहीं उत्तर-मध्य बंगाल की खाड़ी में सक्रिय चक्रवातीय एक्टीविटी के प्रभाव में आज बंगाल की खाड़ी के उत्तर/मध्य क्षेत्र में निम्न दाब क्षेत्र के सक्रिय होने की संभावना बनी हुई है।

सूखा प्रभावित क्षेत्रों की संख्या बढ़ी
तीन दिन से रिमझिम होने के बाद भी प्रदेश में सूखा प्रभावित इलाकों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। अब कुल 17 जिले सूखे की चपेट में आ गए हैं। इसमें इंदौर, धार, बड़वानी, खरगोन, हरदा, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, सागर, दमोह, छतरपुर, पन्ना, कटनी, उमरिया, जबलपुर, मंडला, सिवनी और बालाघाट रेड जोन में है। यहां पर सामान से 20% से लेकर 47% तक कम बारिश हुई है। अगर यह यही स्थिति रही तो प्रदेश के हालात बिगड़ सकते हैं।

भारी बारिश का अलर्ट

अगले 24 घंटे में विदिशा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, धार, इंदौर, रतलाम, उज्जैन, देवास और सागर में भारी बारिश का अलर्ट। गरज-चमक के साथ जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद और दमोह में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

विंध्य में आकाशीय बिजली का कहर:रीवा जिले के मऊगंज और सोहागी में गाज गिरने से 2 की मौत, 2 घायल, 4 बकरियों ने भी तोड़ा दम, दोनों जगह पेड़ के नीचे गिरी बिजली

खबरें और भी हैं...