• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 1 Inch Of Rain In 24 Hours In Bhopal, Heavy Rain Started From Morning, 7 Gates Of Sanjay Sagar Dam Of Vidisha Opened, Guna And Rajgarh Also Received Heavy Rain Alert

MP में मानसून एक्टिव:भोपाल में 24 घंटे में 1 इंच बारिश, विदिशा के संजय सागर के 7 और राजगढ़ के कुंडालिया डैम के 8 गेट खुले; गुना में झागर पुलिया पर 3 फीट ऊपर पानी

मध्यप्रदेश6 महीने पहले
भोपाल में शुक्रवार सुबह से तेज बारिश हो रही है। फोटो एमपी नगर का है।

MP में मानसून एक्टिव है और पूरे प्रदेश में पानी बरस रहा है। ग्वालियर-चंबल अंचल के साथ अब मालवा-निमाड़ के जिलों में भी मानसून एक्टिव हो गया है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में कई जिलों में भारी एवं तेज बारिश होने के आसार जताए हैं। भोपाल, विदिशा, गुना समेत कई जिलों में गुरुवार रात से ही तेज बारिश हो रही है। विदिशा के संजय सागर डैम के 7 गेट और राजगढ़ जिले के कुंडालिया डैम के 8 गेट खोल दिए गए हैं।

मौसम विभाग के अनुसार 24 घंटे में गुना, विदिशा और राजगढ़ में भारी बारिश होने के आसार है। विदिशा में गुरुवार से ही तेज बारिश हो रही है। गुना में भी यही स्थिति है। भोपाल के अलावा मंदसौर, शाजापुर, आगर मालवा, सीहोर, रायसेन, सागर में तेज बारिश हो रही है। नीमच, देवास, रतलाम, उज्जैन, धार, इंदौर, होशंगाबाद, हरदा, नरसिंहपुर में भी बारिश होने की बात मौसम विभाग ने कही है।

इधर, बारिश होने से डैम-तालाबों में वॉटर लेवल लगातार बढ़ रहा है। भोपाल के बड़ा तालाब, कलियासोत, केरवा डैम और सीहोर जिले के कोलार डैम में पानी की आमद हो रही है। विदिशा के संजय सागर डैम के 7 गेट खोल दिए गए हैं। वहीं राजगढ़ जिले के कुंडालिया डैम के 8 गेट खुले हैं।

विदिशा के संजय सागर डैम के 7 गेट खोल दिए गए हैं।
विदिशा के संजय सागर डैम के 7 गेट खोल दिए गए हैं।

भोपाल के कई निचले इलाकों में पानी भरा
भोपाल में पिछले 24 घंटे में 1 इंच बारिश हो चुकी है। शुक्रवार सुबह से ही तेज बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है। इस कारण कई निचले इलाकों में पानी भर गया है।

इन जिलों में अलर्ट

  • भारी बारिश: गुना, विदिशा व राजगढ़।
  • तेज बारिश: मंदसौर, शाजापुर, आगर, सीहोर, भोपाल, रायसेन और सागर।
  • कहीं-कहीं बारिश: नीमच, देवास, रतलाम, उज्जैन, धार, इंदौर, होशंगाबाद, हरदा, नरसिंहपुर आदि।

24 घंटे में गुना में सबसे ज्यादा बारिश
बीते 24 घंटे (शुक्रवार सुबह 8 बजे तक) में मध्य प्रदेश के विदिशा में 3 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। गुना में एवरेज 2.5 इंच से ज्यादा पानी बरसा। रायसेन में 1.3 इंच, भोपाल में 1, शाजापुर में 1.2, पचमढ़ी में 1 इंच बारिश हुई। सागर, बैतुल, मंडला, होशंगाबाद, दतिया, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, टीकमगढ़, धार आदि जगह भी बारिश हुई।

गुना में भी बारिश मचा रही तबाही

जिले में बारिश ने चारों तरफ तबाही मचा दी है। शहर के अधिकांश इलाकों में पानी भर गया है। नानाखेड़ी की पुलिया पर करने के चक्कर में एक व्यक्ति बह गया। वह 70-80 मीटर दूर तक चला गया। पुलिया पर खड़े तैराक आदर्श जैन ने कूदकर उसे बचाया। पार्वती नदी में उफान आने की वजह से राजस्थान जाने वाले 3 मार्ग बंद हो गए हैं। बमोरी में वाडिया नाले की नहर एक जगह से फूट गई। इससे आस-पास के खेतों में पानी भर रहा है। इससे करीब 14-15 गांव प्रभावित हुए हैं। झागर नदी की पुलिया पर 3 फीट ऊपर से पानी बह रहा है। शुक्रवार को मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है। शुक्रवार सुबह 8:30 बजे से 11:30 बजे तक जिले में एक इंच बारिश हो चुकी है।

गुना में नानाखेड़ी इलाके में पानी भर गया है।
गुना में नानाखेड़ी इलाके में पानी भर गया है।

छतरपुर में खुलेंगे सुजारा बांध के गेट

छतरपुर-टीकमगढ़ जिले की सीमा पर बने सुजारा बांध दशान नदी में अचानक जलस्तर बढ़ने से व दूसरी ओर नदियों का जलस्तर भी बढ़ने लगा है। इसके चलते शुक्रवार को बान सुजारा बांध धसान नदी के गेट खोले जाएंगे। दशान नदी के किनारे बसे गांव में प्रशासन द्वारा अलर्ट जारी किया है।

राजगढ़ में जनजीवन अस्त-व्यस्त

जिले में लगातार 4 दिन से हो रही बारिश से लोग परेशान हैं। खिलचीपुर की गाड़ गंगा नदी उफान पर है। नदी पर बना छोटा पुल डूब चुका है। हालात यह हैं, नदी पर बने बड़े पुल तक पानी पहुंचने लगा है। फिलहाल खिलचीपुर से सोमवारिया जाने वाले बड़े पुल से नदी का पानी महज 3 फीट नीचे है। वहीं, बारिश के कारण सोमवारिया स्थित शिवजी के जल मंदिर पर जाने का रास्ता तक बंद हो गया है। नदी के समीप बने ईंट भट्टे आधे डूब चुके हैं।

आगर-मालवा में कुंडालिया बांध के 8 गेट खोले

आगर मालवा जिले में बारिश का दौर लगातार जारी है, रात से जारी के चलते नलखेड़ा में स्थित प्रसिद्ध मां बगलामुखी मंदिर के समीप बरसाती नाले की पुलिया उफान पर आ जाने से मंदिर का मुख्य रास्ता बंद हो गया है। साथ ही, नलखेड़ा में निचली बस्तियों में जलभराव की भी स्थिति बनने लगी है। निचले इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। जिले में पिछले 24 घंटे में औसत 43.8 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है, जिसमें सर्वाधिक नलखेड़ा में 80.4 मिमी दर्ज की गई है। वहीं विदिशा की कुरवाई तहसील का मऊ खेड़ी गांव में चारों ओर पानी से घिरा बचाव दल रेस्क्यू ऑपरेशन कर रहा है।

खबरें और भी हैं...