पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 11 year old 'Tamanna' Was Sitting Behind The Driver's Seat, When The Window Peeped The Truck Blew His Head, Death, The Truck Driver Absconded

MP में ट्रक से कटा बच्ची का सिर:11 साल की बच्ची ने उल्टी करने के लिए सिर बस से बाहर निकाला, ट्रक की टक्कर से सिर धड़ से अलग हुआ; मां कहती रही- जोड़ दो बेटी का सिर

खंडवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मां और बड़ी बहन के साथ रिश्तेदार के यहां शादी में जा रही थी बच्ची
  • खंडवा के पास इंदौर-इच्छापुर मार्ग पर हादसा हो गया

मध्य प्रदेश के इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर हादसे में 11 साल की बच्ची तमन्ना की गर्दन कट गई। घटना देशगांव चौकी के रोशिया फाटे के पास हुई। बस में बैठी बच्ची ने उल्टी करने के लिए खिड़की से बाहर गर्दन निकाली थी। इसी दौरान सामने से आ रहे ट्रक की चपेट में आने से उसका सिर कट गया। इससे मौके पर ही बच्ची की मौत हो गई।

देशगांव चौकी प्रभारी रमेश गवले ने बताया प्रभात सर्विस की बस मंगलवार सुबह करीब 8 बजे खंडवा से निकली और करीब 9 बजे रोशिया फाटे से पहले कश्मीरी नाले तक पहुंची ही थी कि सामने से आ रहा ट्रक नाले पर बस को क्रॉस करने लगा। इस बीच वह बस से रगड़ता हुआ निकला। इस दौरान बस में ड्राइवर सीट के पीछे बैठकी तमन्ना का सिर खिड़की से बाहर था जो बस और ट्रक के बीच में आ गया। इससे बच्ची का सिर, धड़ से अलग होकर सड़क पर गिर गया। हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने ट्रक ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज कर ट्रक जब्त कर लिया है।

खंडवा की बंगाली कॉलोनी में यहां रहती थी तमन्ना (नीले दरवाजे वाला घर)
खंडवा की बंगाली कॉलोनी में यहां रहती थी तमन्ना (नीले दरवाजे वाला घर)

खाला की शादी में शामिल होने जा रहा थी तमन्ना
तमन्ना की चाची ने बताया बच्ची अपनी मां और बड़ी बहन के साथ खाला की शादी में बड़वाह जा रही थी। ​उन्होंने बताया कि तमन्ना को साइकिल चलाने का शौक था। तमन्ना का परिवार खंडवा की बंगाली कॉलोनी की गली नंबर-3 में रहता है। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हैं। तमन्ना के पिता हैदर कृषि उपज मंडी में हम्माली करते हैं और मां लोगों के घर झाड़ू-पोंछा करती हैं।

तमन्ना को अफसर बनाना चाहते थे पिता
परिजन के मुताबिक तमन्ना और उसकी बहन रुबिना साथ में स्कूल जाती थीं। परदेशीपुरा के पानी दफ्तर स्कूल में तमन्ना छठी क्लास में पढ़ती थी। मोहल्ले से सिर्फ ये दो बहनें ही थीं, जो स्कूल जाती थीं, बाकी लड़कियां मदरसे में पढ़ती थीं। तमन्ना के पिता उसे पढ़ा लिखाकर अफसर बनाना चाहते थे।

मां ने कहा- दचके में अचानक बेटी का शरीर ज्यादा बाहर हो गया

शव छैगांवमाखन से सीधे जूनी इंदौर लाइन स्थित छोटा कब्रिस्तान ले जाया गया। बदहवास मां बार-बार यही कहती रही कि मेरी बेटी का सिर जोड़ फिर से जोड़ दीजिए। कह रही थी कि उल्टी हो रही है। सिर निकाला और दचका लगने से सिर ज्यादा बाहर हो गया। इससे हादसा हो गया। बेटी खिड़की के पास ही चिपककर रह गई।

खबरें और भी हैं...