पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 13 year old Girl Raped, Pressed Into Stones, Jaw Fracture, Blood Clot Deposited In Brain

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

10 दिनों में MP में चौथी दरिंदगी:13 साल की बच्ची जिसे चाचा बुलाती थी, उसी ने दुष्कर्म कर पत्थरों में दबाया; जबड़ा-दांत टूटे, दिमाग में खून का थक्का जमा

सारनी (बैतूल)एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्ची से दुष्कर्म और उसके जिस्म को नोंचने के बाद दरिंदे ने यहीं पर उसे पत्थराें में दबा दिया था। - Dainik Bhaskar
बच्ची से दुष्कर्म और उसके जिस्म को नोंचने के बाद दरिंदे ने यहीं पर उसे पत्थराें में दबा दिया था।
  • मोटर बंद करने आई बच्ची को बगल खेत के मालिक ने पाइप लगाने के बहाने बुलाया
  • रात में बहनें, पिता ढूंढने पहुंचे तो खेत में कराहती मिली, नागपुर मेडिकल कॉलेज रेफर
  • 45 साल का आरोपी गिरफ्तार, इससे पहले उमरिया, सीधी, खंडवा में भी हो चुकी है हैवानियत

बैतूल के सारनी के पास जांगड़ा गांव में चाचा ही 13 साल की बच्ची के साथ हैवानियत पर उतर आया। अपने खेत की मोटर बंद करने आई बच्ची को दरिंदे ने पाइप लगाने के बहाने बुलाया। फिर दो खेतों के बीच गुजर रहे नाले में उससे दुष्कर्म किया। पुलिस ने दरिंदे सुशील को गिरफ्तार कर लिया है।

बच्ची भोपाल के एक निजी स्कूल की नौवीं की छात्रा है। कोरोनाकाल में जांगड़ा से दो किमी दूर के गांव छूरी स्थित स्कूल में पढ़ाई कर रही है। जनवरी में मध्य प्रदेश में दरिंदगी की यह चौथी घटना है। उमरिया, रीवा और सीधी में बच्चियों के साथ दरिंदगी की घटनाएं हुई हैं।

बैतूल: आरोपी को चाचा कहती थी बच्ची

आरोपी सुशील वर्मा (45) को बच्ची चाचा कहती थी और उसका खेत बगल में ही है। आरोपी ने दुष्कर्म की वारदात के बाद बच्ची के चेहरे और पेट पर पत्थर से वार किए। बच्ची को मरा समझकर बड़े पत्थरों से दबाकर अपने घर चला गया। उधर, जब बच्ची घर नहीं लौटी तो उसकी दो बहनें और पिता खेत पर पहुंचे। बच्ची को आवाज लगाने पर उसके कराहने की आवाज आई। रात के अंधेरे में टॉर्च की रोशनी में देखा तो वह पत्थरों में दबी थी।

परिजन उसे निकालकर घोड़ाडोंगरी अस्पताल पहुंचे। बच्ची की हालत देखते हुए उसे नागपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया है। बच्ची का जबड़ा और दांत टूट गए हैं। मस्तिष्क में खून का थक्का जमा है। पेट में खून है, जिसे इंजेक्शन से निकाला जा रहा है। गले में नाखून के निशान हैं। गाल और कान में टांकें लगाए गए हैं। खून की उल्टियां हो रही हैं।

पिता बोले- रोजाना की तरह स्कूल से लाैट कर मोटर बंद करने गई थी

बच्ची के पिता ने बताया, ' मेरी बेटी रोजाना स्कूल से लौट कर खेत पर मोटर बंद करने जाती है। सोमवार शाम को घर से एक किलोमीटर दूर खेत पर गई थी। पौन घंटे तक लौट कर नहीं आई तो मैं बाइक से खेत पर देखने गया। वहां कोई नहीं दिखा तो सोचा कि वह खेत के रास्ते घर चली गई होगी। मैं बाइक से रोड के रास्ते आ गया। वापस घर गया, लेकिन बच्ची घर पर नहीं थी। फिर उसकी दो बड़ी बहनों को लेकर बाइक से खेत पर पहुंचा। तब तक अंधेरा हो गया था। हम मोबाइल की रोशनी में आवाज लगाने लगे। तब एक तरफ से किसी के कराहने की हल्की सी आवाज आई। उस तरफ गए तो बच्ची की हालत देख कलेजा फट गया।

लहूलुहान बच्ची पत्थरों में दबी हुई थी। कपड़े अस्त-व्यस्त पड़े थे। उसे निकाल कर मैं और एक बेटी घोड़ाडोंगरी हॉस्पिटल गए। डेढ़ घंटे में उसको हाेश आया तो बाेली सुशील चाचा ने मेेरे साथ जबरदस्ती की है। पाइप लगाने के लिए बुलाया और नाले में ले जाकर गंदा काम करने लगे। मना किया तो मारा। उसके बाद क्या हुआ, होश नहीं। सुबह हम बच्ची को लेकर नागपुर भागे। खून की उल्टियां कर रही है। टांके लगे हैं, शरीर पर नाखून के निशान हैं। उसकी ऐसी हालत करने वाले को फांसी होना चाहिए।'

एसपी से बोली महिला- उसे तो गोली मार दो

मंगलवार शाम को एसपी सिमाला प्रसाद घटनास्थल पहुंची। ग्रामीणों से जानकारी ली। एक महिला से एसपी कहने लगीं कि हम आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाएंगे। महिला ने गुस्से में कहा-उसे तो आप गोली मार दो।

उमरिया में 15 जनवरी को दरिंदगी: नौंवी की छात्रा से नौ लोगों ने किया दुष्कर्म
उमरिया में एक 13 साल की बच्ची के साथ 9 लोगों ने दुष्कर्म किया। तीन दिन तक दरिंदे उसके साथ दरिंदगी करते रहे। चौथे दिन जब किशोरी परिजनों के साथ थाने पहुंची, तो उसकी शिकायत पर पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया। दो अभी भी फरार हैं। पुलिस के मुताबिक बच्ची जबलपुर में पिता के पास रहती है। स्कूल की छुट्टियां होने के चलते वह उमरिया मां के पास आई थी। वह कक्षा नौंवी की छात्रा है। पिता शासकीय सेवा में हैं।

बच्ची 11 जनवरी को सब्जी मंडी गई थी। उसे यहां राहुल कुशवाहा व आकाश सिंह मिले। उसी दिन दोनों ने उसे फोन कर बुलाया। घुमाने के लिए बाइक पर भरौला व छटन के जंगल ले गए। वहां डरा-धमकाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद धमकाते हुए वे बच्ची को NH-43 किनारे बने एक ढाबे में ले गए। रात में वहीं उसे बंधक बनाकर रखा। यहां ढाबा संचालक पारस सोनी, उसके साथियों ने दरिंदगी की। आरोपी उसे छटन बस्ती के जंगल में भी ले गए। बालिका का पैतृक गांव कटनी जिले में है। 12 जनवरी की सुबह उसने बड़े पापा के पास कटनी भेजने की मिन्नतें की तो आरोपियों ने परिचय के ही ट्रक ड्राइवर रोहित यादव को बुला लिया। रोहित ने बालिका को ट्रक में तो बैठाया, लेकिन रास्ते में उसने भी दरिंदगी की। बाद में उसे विलायत कला- बड़वारा के समीप टोल नाके पर छोड़ दिया। यहां बच्ची ने फिर से वापस उमरिया आने के लिए एक ट्रक चालक से लिफ्ट मांगी। इस ट्रक चालक ने भी उसकी बेबसी का फायदा उठाया। उसके साथ दुष्कर्म किया।

खंडवा में 11 जनवरी को दरिंदगी: 13 साल की बच्ची से ज्यादती के बाद गला दबाकर हत्या
खंडवा में 11 जनवरी को 13 साल की बच्ची से दरिंदगी के बाद हत्या का मामला सामने आया। यहां के धनगांव क्षेत्र के जामनिया गांव की बच्ची सुबह 10 बजे बिस्किट लेने के लिए मां से पांच रुपए लिए और गांव में दिलावर राजपूत (45) की किराना दुकान पर पहुंची। दिलावर बच्ची का हाथ पकड़कर अपने कमरे में ले गया। ज्यादती के बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। फिर पति-पत्नी बच्ची के कपड़े उतारकर शव को बोरे में भरकर फेंकने की तैयारी की।

दोपहर करीब 12 बजे छत पर बोरे में भरने की तैयारी की जा रही थी, तभी गांव के जीवन व उनकी पत्नी व जगदीश ने आरोपी दिलावर और उसकी पत्नी को देख लिया। जीवन और जगदीश ने बालिका की मां से पूछा कि आपकी बेटी कहां है। मां को दिलावर की दुकान पर पहुंची, तब दिलावर की पत्नी किरण बैठी थी। दुकान में सामान बिखरा हुआ देख मां को संदेह हुआ तो वह घर के अंदर घुसी। इस दौरान बालिका की चप्पल व स्वेटर अलग-अलग जगहों पर पड़े हुए देख मां के होश उड़ गए। छत की दीवार के पास बोरे में बेटी का शव ढंका हुआ था।

सीधी में 10 जनवरी को दरिंदगी: महिला से गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में सरिया डाला
सीधी जिले के अमिलिया थाना क्षेत्र में महिला के साथ तीन युवकों ने गैंगरेप किया और उसके प्राइवेट पार्ट में लोहे का सरिया डाल दिया। पीड़िता को गंभीर अवस्था में पहले सीधी जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां से रीवा रैफर कर दिया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी उसी गांव के हैं।

चार साल पहले पति की मौत के बाद महिला अपने दो बच्चों के साथ झोपड़ी में दुकान चलाकर परिवार पाल रही है। 9 जनवरी की रात तीन युवकों ने महिला को आवाज देकर पानी मांगा। महिला ने पानी न होने की बात कही तो आरोपी झोपड़ी के टटिए को तोड़कर अंदर घुस गए और गैंगरेप किया। दरिंदगी की हद तो तब हो गई जब जब उन्होंने महिला के प्राइवेट पार्ट में लोहे का सरिया डाल दिया। पीड़िता को उसकी बहन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अमिलिया ले गई जहां से जिला चिकित्सालय के लिए रैफर कर दिया गया। पुलिस ने आरोपी लल्लू कोल, भाईलाल पटेल व एक अन्य को गिरफ्तार किया है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

और पढ़ें