पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • 33 Districts Including Indore Jabalpur In Red Zone, Only 30% Rain In Morena Panna; Read The Condition Of The Entire State Of Rain

MP में सूखे का डर!:इंदौर-जबलपुर समेत 33 जिले रेड जोन में, मुरैना-पन्ना में सिर्फ 30% बारिश; जानिए पूरे प्रदेश में बारिश का हाल

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे

मध्य प्रदेश में समय से पहले धमाकेदार दस्तक देने वाला मानसून अब रूठ सा गया है। हालत यह है कि कई जगह सूखा पड़ने लगा है। प्रदेश में 19 जुलाई तक करीब 300 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, लेकिन 230 मिमी ही हुई है। यह सामान्य कोटे से करीब 24% कम है। मुरैना और पन्ना में तो हालत और खराब है। यहां अभी भी कोटे से 70% तक कम पानी गिरा है।

इंदौर और जबलपुर की स्थिति भी अच्छी नहीं है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि बारिश में काफी कमी आई है। यह स्थिति पिछले साल जैसी बन गई है। हालांकि अब जुलाई के अंतिम सप्ताह में मानसून के सक्रिय होने की उम्मीद बढ़ गई है। अभी कई सिस्टम बन रहे हैं। ऐसे में तीन-चार दिन बाद अच्छी बारिश होने की संभावना बढ़ गई है।

यह सिस्टम बन रहा

वैज्ञानिक साहा ने बताया कि साउथ वेस्ट यूपी के पास सिस्टम बन रहा है। ट्रफ लाइन भी ग्वालियर होते हुए जा रही है। इसके कारण इन इलाकों में बारिश होने लगी है। बंगाल में 23 जुलाई को सिस्टम बनने वाला है। यहां लो प्रेशर एरिया बन रहा है। साउथ गुजरात के पास ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। अरेबियन सी में भी एक सिस्टम है। सभी सिस्टम के एक साथ मिलने पर अच्छी बारिश होने लगेगी। दो से चार दिन में झमाझम की उम्मीद बन गई है। यानी अगले एक सप्ताह तक अच्छा पानी गिरने की उम्मीद की जा सकती है।

यहां 50% से 70% तक कम पानी गिरा

सबसे खराब स्थिति वाले जिले पन्ना, छतरपुर, टीकमगढ़, दतिया और दमोह हैं। इनमें 50 से लेकर करीब 70% तक पानी कम गिरा।

इन जिलों में सामान्य से 50% कम बारिश हुई

भिंड, ग्वालियर, श्योपुर, शिवपुरी, अशोकनगर, गुना, सागर, राजगढ़, शाजापुर, आगर मालवा, मंदसौर, उज्जैन, इंदौर, धार, आलीराजपुर, बड़वानी, खरगोन, खंडवा, हरदा, होशंगाबाद, सिवनी, बालाघाट, डिंडोरी, अनूपपुर, उमरिया, जबलपुर, कटनी और सतना में 20% से लेकर 50% तक सामान्य से कम बारिश हुई। यहां स्थिति चिंताजनक है।

यहां ठीक बारिश, लेकिन सामान्य से कम

विदिशा, छिंदवाड़ा, बैतूल, बुरहानपुर, रतलाम, झाबुआ, नीमच, मंडला और शहडोल में 1% से लेकर 19% तक कम बारिश हुई है। हालांकि मौसम विभाग के अनुसार यहां स्थिति सामान्य है।

यहां संतोषजनक स्थिति
अभी तक मध्य प्रदेश का सिर्फ एक ही जिला सिंगरौली ऐसा है, जहां पर सामान्य से 45% तक ज्यादा बारिश हो चुकी है। इस मामले में रायसेन, भोपाल और नरसिंहपुर की स्थिति भी ठीक है। यहां भी सामान्य से 20% तक ज्यादा पानी गिर चुका है।

यहां स्थिति बेहतर

जिलासामान्य बारिशपानी गिरा
सिंगरौली270 मिमी391 मिमी
रायसेन340404
सीधी326352
रीवा302323

यहां स्थिति चिंताजनक

जिलासामान्य बारिशपानी गिरा
पन्ना340 मिमी108 मिमी
मुरैना17262
टीकमगढ़270110
दमोह210134

एमपी के बड़े शहरों की स्थिति

जिलासामान्य बारिशपानी गिरा
भोपाल306 मिमी317 मिमी
जबलपुर338223
इंदौर260174
ग्वालियर210134

नोट : मौसम विभाग वर्षा का आकलन % के अनुसार करता है। अर्थात सामान्य से 19% तक कम या ज्यादा बारिश को सामान्य माना जाता है। इससे ज्यादा होने पर ही उसे कम या ज्यादा होने पर मौसम विभाग इसे सामान्य से कम या ज्यादा में रखता है।

खबरें और भी हैं...