पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • A Separate Vaccination Center For People Between 18 And 45 Years, Strict Action Will Be Taken Against Those Who Create Confusion About Karona

एंबुलेंस की दरें तय करेगी सरकार:18 से 45 साल के लोगों के लिए अलग वैक्सीनेशन सेंटर, काेरोना को लेकर भ्रम फैलाने वालों पर सख्त कार्यवाही होगी

मध्य प्रदेशएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मध्य प्रदेश में प्राइवेट एंबुलेंस वाले इस आपदा के दौरान मरीजों से अनाप-शनाप किराया वसूल कर रहे हैं। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास लगातार शिकायतें मिल रही थीं। अब सरकार एंबुलेंस की दरें तय करेंगी। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कोरोना की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस वाले यदि ज्यादा किराया वसूलते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।
बैठक की जानकारी देते हुए गृह मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि सोशल मीडिया पर कोरोना के संबंध में भ्रामक जानकारियां पोस्ट करने वालों के खिलाफ भी सख्ती से कार्यवाही करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि 5 मई से प्रारंभ होने वाले 18+ वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन के बाद ही वैक्सीनेशन सेंटर जाएं।
डॉ. मिश्रा ने बताया कि सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफाॅर्म जैसे व्हाट्सअप ग्रुप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम इत्यादि पर कोरोना के संबंध में विभिन्न प्रकार की भ्रामक जानकारियां पोस्ट की जा रही हैं। बैठक में निर्णय लिया गया कि सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारियाँ पोस्ट करने वालों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
वैक्सीनेशन के पहले पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराएं
18+ वैक्सीनेशन के लिए पात्र सभी लोगों से पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। डॉ. मिश्रा ने बताया कि जनता को असुविधा और संक्रमण से बचाने के लिए भी अस्पतालों के अन्यत्र वैक्सीनेशन सेंटर खोले जाने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि सभी पात्र लोगों को वैक्सीन लगाई जायेगी। साथ ही अपील की है कि वैक्सीनेशन के लिये अनावश्यक भीड़ न लगायें, अपना नम्बर आने पर ही वैक्सीनेशन करायें।

विधायक त्रिपाठी ने की थी मांग

मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर एंबुलेंस की दरें तय करने की मांग की थी। त्रिपाठी ने पत्र में कहा था कि सतना से जबलपुर तक के लिए एंबुलेंस वाले कोरोना मरीजों से 20 हजार रुपए तक किराया वसूल रहे हैं। ऐसे में सरकार को एंबुलेंस की दरें तय करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...