पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bengal Election Will Decide BJP Congress Claimant, Late MP's Son Harsh Vardhan Said: 'Party Paramount' ... Election Commission Sent EVM Machines From Morena

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खंडवा लोकसभा उपचुनाव:बंगाल चुनाव तय करेगा भाजपा-कांग्रेस के दावेदार, दिवंगत नंदकुमार के बेटे हर्षवर्धन ने कहा- पार्टी सर्वोपरि; निर्वाचन आयोग ने भेजी EVM

खंडवा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सांसद नंदकुमारसिंह चौहान (2 मार्च 2021) के निधन होने से खंडवा लोकसभा सीट खाली हो गई है। इस सीट पर उपचुनाव के लिए निर्वाचन आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। आयोग ने मुरैना से EVM (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) भेज दी हैं। राजनीतिक जानकारों के अनुसार भाजपा-कांग्रेस में दावेदार बंगाल चुनाव के बाद ही तय होंगे। इधर, दिवंगत सांसद के बेटे हर्षवर्धन का कहना है कि उनकी उम्मीदवारी पार्टी तय करेगी, पार्टी ही सर्वोपरि हैं।
भाजपा : सीएम शिवराज ने हर्षवर्धन को दिए संकेत
उपचुनाव के मुख्य दावेदारों में दिवंगत नंदकुमारसिंह के बेटे हर्षवर्धन का नाम पहले स्थान पर हैं। पार्टी सूत्रों की माने तो सीएम शिवराजसिंह चौहान ने सहानुभूति के तौर पर दिवंगत सांसद के बेटे को दावेदारी के लिए जुट जाने के संकेत दिए हैं। हालांकि इस बात को हर्षवर्धन ने नकारते हुए पार्टी को ही सर्वोपरि बताया। कहा कि जो भी निर्णय होगा वह पार्टी संगठन अपने स्तर से लेगा।
बंगाल चुनाव इसलिए.. कैलाश विजयवर्गीय का नाम चर्चा में
उपचुनाव में दावेदारों के नाम बंगाल चुनाव से जोड़े जा रहे हैं। राजनीतक जानकारों के अनुसार बंगाल में भाजपा की सरकार बनती है तो बंगाल चुनाव प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को खंडवा सीट से उपचुनाव लड़वाकर केंद्र सरकार में स्थान दिलवाया जा सकता हैं। वहीं प्रदेश पार्टी संगठन में खंडवा के राजेश तिवारी का नाम भी हैं।
कांग्रेस : पूर्व सांसद अरूण यादव के भरोसे पर सीट
उपचुनाव को लेकर फिलहाल भाजपा-कांग्रेस दोनों साइलेंट हैं। किसी प्रकार की हलचल नहीं है, जहां भाजपा में दिवंगत सांसद के बेटे सहित केंद्रीय संगठन से जुड़े नेताओं के नाम है। वहीं कांग्रेस सिर्फ पूर्व सांसद व पीसीसी अध्यक्ष रहे अरूण यादव के भरोसे हैं। 2009 के लोस चुनाव में अरूण यादव ने नंदकुमारसिंह को हराया था। इसके बाद से 2014, 2019 के चुनाव में उन्हें नंदकुमार से हार का सामना करना पड़ा।
उपचुनाव के लिए मुरैना से खंडवा पहुंची EVM
खंडवा एडीएम शंकरलाल सिंघाड़े ने बताया लोकसभा उपचुनाव को निर्वाचन आयोग की ओर से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई हैं। प्रशासनिक स्तर पर तैयारियों की बात करें तो फिलहाल एक-दो दिन पहले ही मुरैना जिले से EVM खंडवा भेजी गई हैं। जानकारी के मुताबिक खंडवा लोकसभा सीट पर 1980 से अब तक एक भी बार उपचुनाव की स्थिति नहीं रही।
खंडवा-बुरहानपुर, खरगोन-देवास की 8 विस सीट शामिल
खंडवा संसदीय क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति की बात करें तो 4 जिलों की 8 विधानसभा सीट इसमें शामिल हैं। इनमें खंडवा जिले की मांधाता, पंधाना, खंडवा व बुरहानपुर जिले की बुरहानपुर, नेपानगर तथा खरगोन जिले की भीकनगांव, बड़वाह एवं देवास जिले की बागली विधानसभा शामिल हैं।
विधानसभा वार कुल वोटर्स
2019 के लोकसभा चुनाव अनुसार बागली में 227113, मांधाता में 195740, खंडवा में 255804, पंधाना में 253272, नेपानगर में 242397, बुरहानपुर में 293835, भीकनगांव में 223267 व बड़वाह विधानसभा क्षेत्र में 216962 वोटर्स हैं। कुल वोटर्स संख्या 1909055 हैं, 2019 के चुनाव में 1468136 लोगों ने मतदान किया था।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

और पढ़ें