पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal Coronavirus Death; Ayushman Hospital Emiloyee Dies OF COVID 19, Police Probe

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंसाफ के लिए लड़ी मां:बेटे को अस्पताल में करंट लगा तो फ्री इलाज का झांसा देकर FIR नहीं करने दी; मौत के बाद मां ने आयुष्मान के संचालक और डॉक्टर्स पर केस किया

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अशोका गार्डन पुलिस ने संजय की मां के शिकायती आवेदन पर अस्पताल संचालक समेत 3 पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।- प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
अशोका गार्डन पुलिस ने संजय की मां के शिकायती आवेदन पर अस्पताल संचालक समेत 3 पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।- प्रतीकात्मक फोटो
  • 11 नवंबर को आयुष्मान अस्पताल में बिजली का काम करते समय झुलसा था 20 साल का युवक, 26 दिसंबर को हो गई थी मौत
  • मौत के एक महीने तक जगह-जगह चक्कर लगाने के बाद दर्ज हो पाई एफआईआर

एक अस्पताल में बिजली का काम करते समय युवक करंट से झुलस गया। पहले तो अस्पताल संचालक ने कह दिया कि रिपोर्ट मत कराइए, हम पूरा इलाज करा देंगे। मां राजी हो गई, लेकिन कुछ ही दिन बाद अस्पताल वाले इलाज में लापरवाही करने लगे। इससे दुखी मां बेटे को दूसरे अस्पताल ले गई।

हालांकि कुछ दिन बाद अस्पताल में बेटे की मौत हो गई। अस्पताल ने कहा कि मौत कोरोना से हुई है। जबकि मां का कहना है कि कोरोना तो बाद की बात है, आयुष्मान अस्पताल में जहां बेटा झुलसा था, यदि ठीक से इलाज करते तो न कहीं जाना पड़ता, न उसकी जान जाती। मां ने बेटे को इंसाफ दिलाने की ठानी और एक महीने चक्कर काटे। अंतत: पुलिस ने मां की शिकायत पर आयुष्मान अस्पताल के संचालक और डॉक्टर्स पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

अशोका गार्डन थाने के विवेचना अधिकारी दिनेश तिवारी ने बताया अशोका गार्डन निवासी 20 वर्षीय संजय ठाकुर 11 नवंबर 2020 को आयुष्मान अस्पताल में बिजली का काम कर रहा था। काम करते समय वह हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया। इससे उसके दोनों हाथ झुलस गए। घटना की सूचना अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को दी। अस्पताल प्रबंधन ने संजय और उसके परिजन को भरोसा दिया था कि वह उसका पूरा इलाज कराएंगे। परिजन भी इसके लिए तैयार हो गए। इसी कारण तब उन्होंने कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी।

एसआई तिवारी ने बताया कि बीच में हम दो-तीन बार युवक को देखने गए थे। तब उसने कहा था कि अस्पताल प्रबंधन के इलाज से संतुष्ट है। हालांकि उसके बाद युवक का कुछ पता नहीं चला। इधर कुछ दिन पहले संजय की मां दुर्गाबाई ने एक आवेदन देकर बताया कि उसकी मौत हो चुकी है। आयुष्मान अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए।

पुलिस ने जब पड़ताल की तो पता चला कि युवक की मौत चिरायु अस्पताल में कोरोना संक्रमण के कारण हुई है। पुलिस ने मां के दिए आवेदन की जांच के बाद आयुष्मान अस्पताल के संचालक शशि, डाॅक्टर फजल और डॉक्टर शर्मा के खिलाफ 304 ए की धारा में FIR की है। हालांकि अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

पुलिस बोली- मां के आवेदन पर एफआईआर की, अब विवेचना की जा रही

एसआई तिवारी ने बताया कि मां के शिकायती आवेदन पर अभी FIR की है। अब विवेचना की जाएगी। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि घर वाले युवक के ठीक होने पर उसे अपने साथ ले गए थे। उसके बाद उन्हें जानकारी ही नहीं है कि उसे कहां भर्ती किया गया या उसे क्या समस्या हुई थी। उनके पास परिजन का लिखित स्टेटमेंट भी है कि वे संजय के ठीक होने के बाद उसे अपनी मर्जी से ले जा रहे हैं।

मां का आरोप- इलाज ठीक से नहीं किया

इधर, मां दुर्गाबाई ने बताया आयुष्मान अस्पताल वालों ने बेटे संजय का ठीक से इलाज नहीं किया। उसकी तकलीफ बढ़ती जा रही थी इसलिए उन्होंने उसे चिरायु अस्पताल में भर्ती किया था। वहां उन्हें उसके साथ नहीं रहने दिया। एक दिन अस्पताल से फोन आया कि संजय की मौत हो गई है। उसकी बॉडी भी नहीं दी। उन्हें केवल एक सर्टिफिकेट दिया है। एसआई तिवारी ने बताया कि मौत का कारण कोरोना बताया गया है। मामले की जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

और पढ़ें