पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal Court Work Resume Today News Updates; Madhya Pradesh Capital Lawyer Arrives At Court Wearing A "Sign" Mask

प्रदेशभर की अदालतों में कामकाज शुरू:भोपाल में वकील मास्क पहनकर कोर्ट पहुंचे, एशिया की सबसे बड़ी कोर्ट में एक सिर्फ थर्मल स्क्रीनिंग मशीन के हवाले जांच, वह भी एक घंटे में खराब

कीर्ति गुप्ता, भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल की अदालत में सोमवार से काम शुरू हो गया। अदालत में प्रवेश करने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। यह मशीन एक घंटे में ही खराब हो गई।
  • अदालत के मैन गेट पर सीजेएम कोर्ट के बाहर 10 अलग-अलग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम लगाए गए
  • पक्षकार के अदालत में प्रवेश पर पहले ही रोक लगाई जा चुकी, वकीलों को उनके बैठने की जगह तक नहीं

मध्यप्रदेश में सोमवार से कोर्ट में काम शुरू हो गया। कुछ वकील अपनी पहचान के लिए मास्क पर ही एडवोकेट का साइन बनवाकर पहुंचे। एशिया की इस सबसे बड़ी जिला अदालत में सिर्फ एक ही थर्मल स्क्रीनिंग मशीन से लोगों के शरीर का तापमान जांच का जिम्मा कोर्ट स्टाफ को दिया गया था। थर्मल स्क्रीनिंग मशीन सिर्फ एक घंटे बाद ही खराब हो गई। दोपहर 1 बजे तक मशीन ठीक नहीं हो पाई थी। इसके साथ पक्षकारों के आने पर प्रतिबंध और वकीलों के लिए बैठने की जगह नहीं होने से कोई काम शुरू नहीं हो सका।

कोर्ट में लोगों के शरीर के तापमान की जांच के लिए एक थर्मल स्क्रीनिंग मशीन दी गई है। वह भी एक घंटे में ही खराब हो गई।

तीन अलग-अलग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम लगाए 
अदालत के मैन गेट के दाएं तरफ सीजेएम कोर्ट के बाहर तीन अलग-अलग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम लगाए गए हैं। ऐसे 10 वीडियो कॉन्फ्रेसिंग सिस्टम अदालत में कामकाज शुरू कर देंगे। कुटुंब न्यायालय में मामलों की सुनवाई के लिए भी वीडियो कांफ्रेंसिंग सिस्टम कोर्ट रूम के बाहर लगाया गया है।

वकील लखन लाल कोर्ट में एडवोकेट का साइन बना मास्क लगाकर पहुंचे।

वकीलों के बैठने के लिए जगह नहीं

काम तो शुरू हो गया, लेकिन वकीलों को उनके बैठने की जगह पर जाने पर फिलहाल रोक लगाई गई है। अदालत के हाल नंबर-1 व 2 और दीपक हॉल में और गलियारों में वकील बैठते हैं। उन तक पहुंचने के दो मैन रास्ते बंद कर दिए गए हैं। इसके चलते वकीलों को सीजेएम कोर्ट के पीछे लगी लिफ़्ट के सामने बनी सीड़ी से होकर बेसमेंट में जाना पड़ रहा है। 

भोपाल की कोर्ट में अलग-अलग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम लगाए गए हैं।

27 जून से 4 जुलाई तक के मामलों की तारीखें बढ़ाई
इसी बीच जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र कुमार वर्मा के आदेश के चलते भोपाल कोर्ट में 4 जुलाई तक लगने वाले सभी मामलों की सुनवाई की अगली तारीख बढ़ा दी गई है। अदालत ने पक्षकारों के प्रवेश पर पहले ही प्रतिबंध लगा दिया था। इसके चलते पक्षकार अदालत नहीं पहुंचे। अब 27 जून से 4 जुलाई तक लगने वाले सभी मामलों की सुनवाई की अगली तारीख के आदेश जारी कर दिए गए हैं। इससे साफ है कि 4 जुलाई तक अदालतों में कामकाज नहीं होगा। आमतौर पर चहल-पहल से भरी रहने वाली कुटुंब न्यायालय के बाहर सन्नाटा पसरा रहा है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें