• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Big Jobs From Airports To Central Weather Stations; Rs 6 Lakh Package In The Beginning Itself

मेट्रोलॉजी यानी बेहतरीन करियर ऑप्शन:एयरपोर्ट से लेकर केंद्रीय मौसम सेंटर तक में जॉब का मौका; शुरुआत में ही 6 लाख का पैकेज

मध्यप्रदेश14 दिन पहले

आज के समय में मौसम विज्ञान की भविष्यवाणी किसी भी प्रदेश के विकास के लिए सबसे बड़ा माध्यम बन गया है। यह मेट्रोलॉजी में आता है। यह ऐसा करियर ऑप्शन है, जो देश सेवा का अवसर देता है। इसी कारण इसे श्रेष्ठ करियर ऑप्शन के रूप में देखे जाने लगा है। दबाव झेलने की क्षमता रखने वालों को यह सर्वश्रेष्ठ करियर ऑप्शन में से एक है। इसमें शुरुआती पैकेज ही करीब 6 लाख रुपए से शुरू होता है। आइए जानते हैं, एक्सपर्ट आकाश इंस्टीट्यूट भोपाल के असिस्टेंट डायरेक्टर रणधीर सिंह से...

मेट्रोलॉजी का मतलब

सरकारी विभागों से लेकर मौसम विज्ञान की भविष्यवाणी करने वाली प्रयोगशालाओं, अंतरिक्ष विभाग और टेलीविजन चैनल पर मौसम वैज्ञानिक की जरूरत होती है। हवा, बादल, पानी से लेकर जमीन के अंदर की हलचलों तक पर मेट्रोलॉजी में रिसर्च होती है। मौसम वैज्ञानिक वे वैज्ञानिक होते हैं, जो पृथ्वी के वायुमंडल और भौतिक वातावरण, पृथ्वी पर उनके विकास, प्रभाव और परिणामों का अध्ययन करता है।

इस तरह बन सकते हैं मेट्रोलॉजी

देश के कई कॉलेजों व यूनिवर्सिटी में मेट्रोलॉजी संबंधित कोर्स चलाए जा रहे हैं। इनमें अंडर ग्रेजुएट (यूजी) और पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी) योग्यता हासिल कर सकते हैं। अंडर ग्रेजुएट कोर्स के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से 57% अंक के साथ विज्ञान वर्ग भौतिकी, जीव विज्ञान और रसायन विज्ञान से 12वीं पास होना जरूरी है। ग्रेजुएट स्तर का कोर्स तीन साल का है। पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बीएससी होना जरूरी है। बीएएसी मेट्रोलॉजी और बीटेक मेट्रोलॉजी कर सकते हैं।

जॉब के अवसर

इस क्षेत्र में रिसर्च व प्रोफेसर के तौर पर जॉब होते हैं। रेडियो और दूरदर्शन केन्द्र, उपग्रह अन्तरिक्ष अनुसंधान केन्द्र, मौसम प्रसारण केन्द्र, सैन्य विभाग, पर्यावरण से जुड़ी एजेंसियों, रेडियो और दूरदर्शन केन्द्र, औद्योगिक मौसम अनुसंधान संस्थाएं, उपग्रह अंतरिक्ष अनुसंधान केन्द्र और विश्व मौसम केन्द्र में भी अच्छे पैकेज पर जॉब कर सकते हैं।

यहां से कर सकते हैं कोर्स

  • आईआईटी दिल्ली
  • आईआईटीएम, पुणे
  • शिवाजी यूनिवर्सिटी, कोल्हापुर
  • आईआईटी, खड़गपुर
  • कोचिन यूनिवर्सिटी, कोच्चि

ये भी पढ़िए:-

एंथ्रोपोलॉजी यानी मल्टीनेशनल करियर ऑप्शन:एमपी में जबलपुर और सागर यूनिवसिर्टी में कोर्स; अच्छे जॉब सरकारी से यूनिसेफ तक में ऑप्शन

फूड टेक्नोलॉजी करियर में कई ऑप्शन:शुरुआती पैकेज 4 लाख से 14 लाख तक; रिसर्च से टॉप कंपनियों में पाएं बेहतरीन जॉब

फॉरेंसिक साइंस से इंटेलिजेंस तक में जाने का मौका:सरकारी, प्राइवेट एजेंसी और लैबोरेटरी में अच्छे करियर ऑप्शंस; टॉप इंस्टीट्यूट में MP की हरिसिंह गौर विवि शामिल

बायोकेमेस्ट्री से करियर को कीजिए ब्राइट, जानिए एक्सपर्ट से:मेडिसिन से लेकर एग्रिकल्चर, फारेंसिक साइंस और पर्यावरण तक में फील्ड खुल जाती है

IOQ में सक्सेस का मंत्र:इंडियन ओलंपियाड क्वालीफाइ करने के लिए अलग तरह से सोचना होगा; रटने की जगह पिछले पेपर हल करें

IOQ दिलाता है इंटरनेशनल पहचान:इंडियन ओलंपियाड क्वालीफाइ करने वालों को अच्छे कॉलेज-जॉब के अवसर ज्यादा; कॉम्पिटिटिव एग्जाम का एक्सपोजर भी

मैथ्स-साइंस लेकर बने वैज्ञानिक, पैसा भी मिलेगा:11वीं, 12वीं और B.SC फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स को भी मौका; फॉर्म भरने के लिए 10वीं में 75% होना जरूरी

IIT की तैयारी खुले दिमाग से करें:रटने से काम नहीं चलेगा; मैथ्स, केमिस्ट्री, फिजिक्स को जीना होगा, कॉन्सेप्ट क्लियर होने पर सफलता

JEE मेन में शॉर्टकट नहीं चलता:मैथ्स की चार स्टेप में प्लानिंग करें; कठिन सवाल में न उलझें, NTA abbhyas QUSEYION से तैयारी करें

एक्सपर्ट से जानिए कैसे पाएं NEET में सक्सेस:बायो में फुल मार्क्स लाने का फॉर्मूला; एनसीईआरटी में बोल्ड और हाई लाइट वर्ड से ही बनते हैं अधिकांश प्रश्न

कॉम्पिटिटिव एग्जाम के लिए 4 बातें जरूरी:एग्जाम और सब्जेक्ट क्या है, किस तरह के सवाल आते हैं; पहले से टारगेट तय करना जरूरी

एग्जाम के पहले 3 बातों का ध्यान रखें:तनाव के साथ ही 10 से 12 मिनट खराब होने से बचते हैं; रिजल्ट भी 15% से 20% बेहतर होगा

NEET में फिजिक्स में अच्छे स्कोर का मंत्र:पेपर में 67% सरल सवालों पर फोकस कर 100 मार्क्स हासिल कर सकते हैं; इतना ही करना काफी