• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chief Minister Shivraj Can Increase Restrictions In The Meeting Of Crisis Management Group Today

MP में नई गाइडलाइन:सभी स्कूल-हॉस्टल बंद, धार्मिक स्थल खुले रहेंगे लेकिन मेलों पर रोक; इवेंट में 250 से ज्यादा लोग नहीं जुट सकेंगे

मध्यप्रदेश11 दिन पहले

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी स्कूलों को 31 जनवरी तक बंद रखने का ऐलान कर दिया है। ऐसे में 20 जनवरी से होने वाले प्री-बोर्ड एग्जाम घर से देना होंगे। सभी तरह के मेले, रैलियों और जुलूसों पर रोक लगा दी गई है। नाइट कर्फ्यू पहले की तरह रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा। आर्थिक गतिविधियां जारी रहेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्कूल 50% क्षमता के साथ खुल रहे थे। बैठक में जो सुझाव आए हैं, उनके अनुसार जरूरी हो गया है कि 31 जनवरी तक सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद कर दिए जाएं। आगे भी परिस्थितियों पर नजर रहेगी। इसके बाद पाबंदियों को लेकर निर्णय किया जाएगा। 15 जनवरी से स्कूल बंद रहेंगे। गृह मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी कर दी है।

CM ने ये फैसले किए

  • खेल गतिविधियां 50% कैपेसिटी से जारी रहेंगी।
  • 20 जनवरी से प्री-बोर्ड एग्जाम घर से ही देना होगा।
  • जुलूस, रैली, राजनीतिक और सामाजिक सभा प्रतिबंधित रहेगी।
  • 50% कैपेसिटी के साथ हॉल में कार्यक्रम हो सकेंगे।
  • सभी तरह के धार्मिक और आर्थिक मेलों पर रोक रहेगी।
  • राजनीतिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, एजुकेशनल और मनोरंजन जैसे कार्यक्रम खुले मैदान में 250 की संख्या में हो सकेंगे।

इन पर रोक नहीं

  • धार्मिक स्थल खुले रहेंगे, लेकिन धार्मिक मेले नहीं लगेंगे।
  • मकर संक्रांति पर स्नान पर रोक नहीं।

इंदौर कलेक्टर ने रखा सख्ती बढ़ाने का सुझाव

क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में सीएम ने कहा- कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमितों की संख्या लगातार तेजी से बढ़ रही है। इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने मुख्यमंत्री के सामने सुझाव रखा कि सख्ती बढ़ाने से कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हो सकती है। सख्ती नहीं बढ़ाई तो रोजाना 10 हजार केस आएंगे।

उज्जैन में सबसे ज्यादा संक्रमण

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश में वीकली कोविड टेस्ट पॉजिटिविटी रेट (7 से 13 जनवरी 2022) सबसे ज्यादा उज्जैन की है।

दैनिक भास्कर की खबर का असर:घर में गुपचुप टेस्ट करने वालों का भी रिकॉर्ड रखेगी सरकार, CM ने दिए आदेश

जिलेवीकली पॉजिटिविटी रेट
उज्जैन36.66%
भोपाल15.10%
शहडोल13.58%
ग्वालियर12.80%
जबलपुर12.71%
इंदौर11.01%
सागर10.04%
खबरें और भी हैं...