• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Chowkidar And Sanitation Expenses Fixed By Madhya Pradesh School Education Department

स्कूल शिक्षा विभाग MP के निर्देश:साफ-सफाई, चौकीदार पर 6 हजार का खर्च तय; कहीं और खर्च करने पर DEO, BEO पर गाज गिरेगी

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विभाग ने शाला प्रबंधन से 6 हजार रुपए प्रति शाला प्रति माह निर्धारित कर दिया है। - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
विभाग ने शाला प्रबंधन से 6 हजार रुपए प्रति शाला प्रति माह निर्धारित कर दिया है। - फाइल फोटो

मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में अब साफ-सफाई और प्यून पर अधिकतम 6 हजार रुपए तक खर्च किए जा सकेंगे। शासन प्रबंधन के नाम पर इस मद का उपयोग अब किसी और दूसरे उद्देश्य जैसे कर्मचारी की भर्ती के लिए नहीं किया जा सकेगा। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने सभी संभागीय संयुक्त संचालक, जिला शिक्षा अधिकारी और विकास खंड शिक्षा अधिकारियों को लिखित निर्देश दे दिए हैं।

इसमें कहा गया है कि वर्ष 2007-08 से 2018-19 तक की उन्नत हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों में शाला प्रबंधन मद की राशि 6 हजार रुपए प्रति शाला प्रतिमाह उपयोग की जा सकेगी। यह राशि सिर्फ सफाई और चौकीदार पर खर्च होगी।
इस कारण लेना पड़ा निर्णय

आदेश में कहा गया है कि जानकारी में आया कि कुछ जिलों में इस मद में कर्मचारियों की नियुक्ति की जा रही है। यह बिल्कुल भी उचित नहीं है। लोक शिक्षण आयुक्त ने कहा है कि किसी भी प्रकार का कोई भी दैनिक वेतन भोगी कलेक्टर रेट पर इस मद से नियुक्त नहीं किया जाए। सुरक्षा एवं सफाई के लिए अलग अलग कर्मचारियों को हर माह निर्धारित राशि से अधिक भुगतान किया जाना पाया गया है।

यह पूरी तरह गलत है। आयुक्त ने कहा है कि जिन विद्यालयों में इससे अधिक राशि खर्च की जा रही है, वह नियम विरुद्ध है। इस पर तत्काल रोक लगाई जाए और जिला शिक्षा अधिकारी, विकास खंड शिक्षा अधिकारी अगर इस पर रोक नहीं लगा पाते तो उनके खिलाफ एक पक्षीय अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। स्कूलों की साफ सफाई और चौकीदार की व्यवस्था के लिए शाला प्रबंधन से 6 हजार रुपए प्रति शाला प्रति माह निर्धारित किए गए हैं। अब यह मद इसी पर खर्च होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...