• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • CM Said First Of All, Dose Those Employees Who Are Left Out; Bhaskar Had Disclosed That 2 Lakh Did Not Get The Dose

2 लाख कोरोना योद्धाओं को ढूंढेगी सरकार!:CM ने कहा- पहले छूटे हुए कर्मचारियों को डोज लगाओ; आज 2 करोड़ डोज वाला प्रदेश बन जाएगा MP

भोपाल7 महीने पहले
मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में वैक्सीनेशन समूह की बैठक हुई।

मध्य प्रदेश में अगस्त और सितंबर में तीसरी लहर की संभावना और कोरोना के डेल्टा+ वैरिएंट के मामले सामने आने के बाद सरकार की चिंता बढ़ गई है। सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में वैक्सीनेशन के मंत्री समूह की बैठक हुई। इसमें स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग शामिल हुए।

बैठक में सीएम ने कहा, सबसे पहले उन कर्मचारियों को डोज लगाओ जो छूटे हुए हैं या जिन्होंने दूसरा डोज नहीं लगवाया है। सीएम ने कहा कि सरकार दूसरा डोज लगवाने के लिए तेजी लगाएगी। साथ ही, उन्होंने महाराष्ट्र की सीमा से लगे इलाकों में भी कलेक्टर्स को फोकस करने को कहा है। बता दें, दैनिक भास्कर ने हाल में 2 लाख हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइनर्स को पहला डोज नहीं लगने का खुलासा किया था।

यह किया था खुलासा

मध्यप्रदेश में सरकार छह महीने में अपने ही कोरोना योद्धाओं का वैक्सीनेशन नहीं करा पाई है। अभी भी 20% से ज्यादा हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइनर्स बगैर टीका लगवाए ड्यूटी कर रहे हैं। इनकी संख्या करीब 2 लाख है। हेल्थ के साथ पुलिस, नगर निगम, आशा कार्यकर्ताओं समेत अन्य कर्मचारियों को 6 माह में भी वैक्सीन का पहला डोज नहीं लगने से सवाल खड़े हो गए हैं। एक्सपर्ट तीसरी लहर की आशंका जता चुके हैं।

आज 2 करोड़ लोगों को पहला डोज

सीएम ने कहा कि सोमवार दोपहर तक फर्स्ट डोज के 2 करोड़ वैक्सिनेशन पूरे हो जाएगे। एमपी का टीकाकारण मॉडल 2 दिन बच्चों के जरूरी और 4 दिन कोरोना टीकाकरण अभियान पूरी गति के साथ चल रहा है । मंगलवार शुक्रवार को बच्चों के 14 प्रकार के आवश्यक टीकाकरण किए जा रहे हैं, यह कार्य सतत जारी है। शेष 4 दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शनिवार कोरोना टीकाकरण जारी है।

मंत्री बोले- दूसरे डोजे के लिए अभियान चलाएंगे

बैठक के बाद चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि मध्यप्रदेश दो करोड़ वैक्सीन लगाने वाला प्रदेश बन गया है। यह अपने आप में रिकॉर्ड है। इसके साथ ही यह निश्चय किया गया है कि हम मध्य प्रदेश को पूर्णत: वैक्सीनेट करें। अब हम विशेष रूप से जो हमारे सेकेंड डोज हैं, उसे लेकर कैंपेन करेंगे। चाहे फ्रंटलाइन वारियर्स की बात हो, 45 साल या 60 साल या फिर 18 साल वाले लोगों की बात हो सेकंड डोज ठीक से लग सके, इसके लिए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं।

ऐसे कैसे लड़ेंगे तीसरी लहर से:MP के 2.33 लाख हेल्थ वर्कर्स व फ्रंट लाइनर्स को एक भी डोज नहीं लगा, तीसरी लहर में भारी पड़ सकती है लापरवाही

कोचिंग खोलने पर विचार करेंगे

उसके साथ ही ऐसे सार्वजनिक स्थान जैसे सिनेमा हॉल है, उस पर भी हम विचार कर रहे हैं कि सिनेमा हॉल में दर्शक पूर्णता वैक्सीनेटेड होंगे तो हम उस एक्टिविटी को भी प्रारंभ करेंगे उसके लिए भी हम अलग से प्लान कर रहे हैं। कोचिंग क्लासेस खासकर जो कंप्टेटिव एग्जाम की कोचिंग क्लासेस हैं, उसमें सभी फैकल्टी मेंबर्स और सभी स्टूडेंट को वैक्सीन के लिए विशेष रूप से अभियान चलाया जाएगा। वैक्सीनेटेड कोचिंग हो जाएगी, तो उसे भी खोलने की अनुमति देने पर विचार करेंगे। सही मायने में यह सुनिश्चित है कि हमें कोरोना की थर्ड वेब को रोकना है, तो हमें वैक्सीन पर विशेष ध्यान देना होगा।

बॉर्डर के एरिया पर होगा फोकस

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि हम यह सुनिश्चित करें कि लोगों को पहला और दूसरा डोज दोनों समय पर लग सके। स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कहा कि महाराष्ट्र से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बॉर्डर वाले इलाकों में कलेक्टर्स को फोकस करने को कहा है। इसके अलावा वैक्सीनेशन में अच्छा प्रदर्शन करने वाली पंचायतों को जल्द ही पुरस्कृत किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...