पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • CM Shivraj Said Private Hospital Affiliated To Kovid Treatment Scheme Refuses Treatment, Will Not Be Tolerated

निजी अस्पतालों पर CM सख्त:शिवराज ने कहा- कोविड उपचार योजना में संबद्ध प्राइवेट अस्पताल इलाज से मना नहीं कर सकते

मध्य प्रदेशएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड का इलाज करने से इनकार करने वाले निजी अस्पतालों पर सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि कोविड उपचार योजना के तहत संबद्ध कोई भी प्राइवेट अस्पताल बेड खाली होने पर कोविड का निःशुल्क उपचार से नहीं कर सकता। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने रविवार देर शाम काेरोना की समीक्षा बैठक बुलाई। उन्होंने कहा, सभी जिलों में सख्ती से संक्रमण रोकने, अस्पतालों में उपचार की व्यवस्था के साथ ही पोस्ट कोविड केयर पर भी ध्यान दिया जाए। पोस्ट कोविड दुष्प्रभाव होने पर, जो मरीज होम आइसोलेशन अथवा कोविड केयर सेंटर्स में हैं, उन्हें अस्पतालों अथवा पोस्ट कोविड सेंटर्स में भर्ती किया जाए।

ग्रामीण क्षेत्रों में 18 लाख का जुर्माना
प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम हुआ है, लेकिन हमें जरा भी असावधानी नहीं बरतना है। बैठक में बताया गया कि प्रदेश के शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी मास्क न लगाने, कोरोना कर्फ्यू का पालन न करने आदि पर कार्रवाई की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में 18 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है।

2 हजार एम्फोटेरेसिन इंजेक्शन गुजरात से मंगाए
स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने बताया कि कोविड के पश्चात होने वाले ब्लैक फंगस रोग के इलाज की भी नि:शुल्क व्यवस्था सरकार द्वारा की जा रही है। प्रदेश में इसके इलाज के लिए 2 हजार एम्फोटेरेसिन इंजेक्शन गुजरात से हवाई जहाज से मंगाए जा रहे हैं।

ब्लैक फंगस पीड़ित ने बयां किया दर्द:हाथ जोड़ता हूं- किसी की जिंदगी से खेलकर अपनी तिजाेरी मत भरो, बीमारी से बचाने वाले इंजेक्शन को कालाबाजारी से बख्श दो

24,807 कोविड मरीजों का नि:शुल्क इलाज
प्रदेश में 24,807 कोविड मरीजों को शासकीय एवं निजी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज दिया जा रहा है। इसमें 17,377 का सरकारी अस्पतालों में, 2584 मरीजों का अनुबंधित अस्पतालों में और 4856 मरीजों का मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत संबद्ध निजी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। प्रदेश में 441 प्राइवेट योजना के अंतर्गत संबद्ध किए गए हैं।

55 लोगों के के खिलाफ केस
प्रदेश में नकली रेमडेसिविर बेचने वालों, कालाबाजारी करने वाले 55 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा, अधिक शुल्क लिए जाने पर अस्पतालों पर कार्रवाई की गई है। कुल 232 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए मरीजों के परिजनों को 88 लाख 96 हजार रुपए की राशि वापस दिलाई गई है।

'ताऊ ते' के प्रभाव का आकलन कर तैयारी कर लें
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि देश में आने वाले तूफान 'ताऊ ते' के मध्य प्रदेश पर होने वाले दुष्परिणामों का आकलन कर लिया जाए। इसके कारण प्रदेश की ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रभावित न हो, इसके लिए पहले ही ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडारण कर लिया जाए।

चिरायु का आयुष्मान कार्ड से इलाज करने से इनकार !:मरीज के परिजन से मैनेजर बोला- आयुष्मान कार्ड स्वीकार नहीं होगा, सभी अथॉरिटी को बता दिया; बाद में गार्ड से कहा- बाहर फेंको इसक

खबरें और भी हैं...