• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Coming From Maharashtra, Committed Incidents In Indore And Bhopal Of MP; They Used To Leave The City Even Before The Police Realized, There Was A Reward Of 50 Thousand, The Target Was Chhattisgarh.

फिल्म धूम की तर्ज पर करते थे लूट:महाराष्ट्र से आकर MP के इंदौर और भोपाल में वारदातें की; पुलिस को भनक लगने से पहले ही शहर से निकल जाते थे, 50 हजार का इनाम था, टारगेट छत्तीसगढ़ था

भोपाल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
क्राइम ब्रांच भोपाल ने आरोपियों से लूट की वारदातों का माल जब्त किया। - Dainik Bhaskar
क्राइम ब्रांच भोपाल ने आरोपियों से लूट की वारदातों का माल जब्त किया।
  • किराए की गाड़ी कर शहर में रैकी करते थे
  • पुलिस के जगने के पहले ही शहर छोड़ देते थे

महाराष्ट्र से MP में आकर दो शातिर लुटेरे फिल्म धूम की तर्ज पर लूट करते थे। पुलिस जब तक आरोपियों के बारे में पता लगाती, वह शहर छोड़कर दूसरे शहर निकल जाते थे। पुलिस से बचने के लिए आरोपी चोरी या लूट की गाड़ियों की जगह किराए की गाड़ी का उपयोग करते थे। यह खुलासा भोपाल क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़े दो लुटेरों ने किया।

एएसपी क्राइम ब्रांच गोपाल धाकड़ ने बताया कि आरोपियों पर नागपुर और पुणे में लूट के 40 से अधिक अपराध हैं। इसके अलावा भोपाल और इंदौर में लूट की 7 से अधिक वारदातों को अंजाम दिया। हालांकि अब तक उनसे 5 लूट और एक चोरी का ही खुलासा हो सका।

पुलिस को भनक लगने के पहले चंपत हो जाते थे

आरोपियों ने बताया कि वे वारदात के लिए नए शहर चुनते थे, जहां उनके खिलाफ कोई प्रकरण नहीं हो। इस बार उन्होंने मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल को टारगेट किया था। यहां ट्रेन से इंदौर पहुंचे। उन्होंने धूम की तरह लॉज में आम लोगों की तरह रूम लिया। उसके बाद अपने आईडी कार्ड से किराए की एक्टिवा ली।

उससे इंदौर में 7 लूट और एक चोरी की। इसके बाद भोपाल में 14 और 15 को लूटकर वापस इंदौर निकल गए। हालांकि दोबारा भोपाल आने पर पकड़े गए। पुलिस की माने तो आरोपियों का लूट करने का तरीका धूम फिल्म की तरह वारदात करने के बाद शहर से निकाल जाने का था। इस कारण उन्हें पकड़ना मुश्किल था। हालांकि भोपाल के बाद आरोपियों ने छत्तसीगढ़ को निशाना बनाया था। यहां आरोपी बिलासपुर और रायपुर में लूट की वारदातों की योजना बना रहे थे।

50 हजार का इनाम रखा गया था

इंदौर और भोपाल में लूट की आरोपियों पर 50 रुपए का नगद रुपए रखा गया था। आरोपियों ने भोपाल के थाना कोहेफिजा क्षेत्र में 2 लूट व इन्दौर शहर में 3 लूट और 1 नकबजनी की वारदात को अंजाम दिया था। हालांकि आरोपियों ने इंदौर में करीब 7 लूट करना बताया है। पुलिस में सिर्फ तीन ही लूट दर्ज हैं। उनके पास से एक्टिवा दो पहिया और 6 सोने की चेन समेत करीब साढ़े 4 लाख रुपए का माल जब्त हुआ है।

आरोपियों का प्रोफाइल
1.

नाम : सचिन पिता नरहरि

उम्र : 37 वर्ष

निवासी : नागपुर (महाराष्ट्र)

शिक्षा : 10 वीं

आपराधिक रिकार्ड : आरोपी पर भोपाल में 2, इन्दौर में लूट के 3 और चोरी का एक अपराध दर्ज है। इसके अलावा महाराष्ट्र के नागपुर, पुणे और राज्य/शहरों के अलग-अलग थाना हुण्डकेश्वर, थाना अजनी, थाना आरपीनगर, थाना सोनेगांव, थाना धनतोली और कई अन्य थाना में लूट, चोरी आबकारी जैसे 36 प्रकरण पंजीबद्ध हैं।

2.

नाम : प्रेम खत्री पिता सालिक राम खत्री

उम्र : 30 वर्ष

निवासी : वर्दा रोड नागपुर (महाराष्ट्र)

शिक्षा : 12वीं

आपराधिक रिकार्ड : आरोपी पर भोपाल और इंदौर के अलावा महाराष्ट्र के नागपुर, पुणे और राज्य/शहरों के अलग-अलग थाना कोरादी, थाना धनतोली थाना लकडगंज, थाना जरीपतका, थाना हुण्डकेश्वर, थाना यशोधरा में मारपीट, लूट, चोरी, आर्म्स एक्ट, आबकारी जैसे 09 प्रकरण पंजीबद्ध है।

खबरें और भी हैं...