• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Cyclone Rain In Madhya Pradesh Latest News Updates; Maximum Temperature Record In Madhya Pradesh After 10 Year

MP में इस बार रिकॉर्ड तपेगा नौ तपा:दो साइक्लोन के पहले आने से 10 साल में पहली बार दिन का पारा सबसे ज्यादा तप सकता है; औसत तापमान 44 डिग्री सेल्सियस पार हो सकता है

भोपाल5 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे
  • कॉपी लिंक
  • शुरुआत में तपने के कारण शेष दिनों में बारिश की संभावना भी
  • 25 मई से 2 जून तक रहेगा नौ तपा

मध्यप्रदेश में इस बार नौ तपा खूब तपेगा। इतना ही नहीं बीते 10 साल में पहली बार औसत तापमान 44 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच सकता है। इन सालों में अधिकतम पारा अब तक 44 डिग्री सेल्सियस तक नहीं पहुंच पाया है। अगर ऐसा हुआ तो वर्ष 2012 के बाद पहली बार नौ तपा में इतनी गर्मी होगी। मौसम विभाग इसका कारण साइक्लोन का जल्दी आना बता रहा है। इस बार 25 मई से 2 जून तक नौ तपा रहेगा।

मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि इस बार 25 मई से 2 जून तक गर्मी ज्यादा रहेगी। शुरुआती दिनों में यह 44 डिग्री तक पहुंच सकता है। उन्होंने बताया कि नौ तपा के समय अक्सर साइक्लोन आते हैं। इस कारण कई सालों से नौ तपा उतने नहीं तपे। वर्ष 2015 के बाद वर्ष 2018 और 2019 में तापमान 43 डिग्री के पार पहुंचा था।

इस साल मई में अब तक दो साइक्लोन आ चुके हैं। इस कारण इस बार नौ तपा में तापमान बढ़ेगा। पहले तीन दिन में ही तापमान 44 से 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की पूरी उम्मीद है। इससे बारिश की संभावना बढ़ जाएगी। पहले सिस्टम और फिर लोकल गतिविधियों से बारिश हो सकती है।

साइक्लोन इस तरह करता है प्रभावित
अप्रैल और मई साइक्लोन सीजन होते हैं। हर महीने एक-दो साइक्लोन आते ही हैं। अरेबियन सी में कम बनते हैं, लेकिन इस बार यहां मजबूत साइक्लोन बन रहे हैं। इसके अलावा वे ऑफ बंगाल में भी साइक्लोन बन रहा है। दोनों सिस्टम पहले ही आ गए। इससे बारिश होने के कारण तापमान उतना नहीं बढ़ पाया। अब कोई साइक्लोन नहीं होने के कारण एक-दो दिन बाद तापमान बढ़ेगा। इस महीने 24 मई से तापमान में ज्यादा बढ़ोतरी होगी।

खजुराहों में सबसे ज्यादा 46 के पार पहुंचा था तापमान
पिछले वर्ष की बात की जाए तो नौ तपा में सबसे ज्यादा तापमान खजुराहो में ही 46 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा रिकॉर्ड किया गया था। हालांकि अन्य शहरों यह इससे कम ही रहा था। इस कारण प्रदेश का औसत तापमान 41.4 डिग्री सेल्सियस था। इससे कम वर्ष 2013 और 2016 में था।

खबरें और भी हैं...