पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Energy Minister Pradyuman Singh Tomar Cleaned The Toilets At Moti Mahal In Gwalior With His Hands, Saying We Should Not Be Ashamed Or Hesitate

मप्र में मंत्री का सफाई अभियान:ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ग्वालियर के मोती महल में शौचालय साफ किया, कहा- हमें इसमें शर्म या संकोच नहीं करना चाहिए

ग्वालियरएक वर्ष पहले
मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ग्वालियर के मोती महल में एक शौचालय साफ किया।
  • इससे पहले कॉल सेंटर पर बैठकर खुद ही उपभोक्ताओं की शिकायतें भी सुन चुके
  • ई-ऑफिस प्रणाली अपनाने वाली मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी देश में पहली

मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। इसमें वे ग्वालियर के मोती महल में एक शौचालय साफ करते नजर आ रहे हैं। यहां पर सरकारी आफिस लगते हैं। तोमर ने पहले शौचालय की शीट को झाड़ू से साफ किया, उसके बाद उन्होंने हाथ से भी उसे अच्छे से क्लीन किया। यह शुक्रवार का बताया जाता है। उन्होंने कहा कि वे लोगों को साफ-सफाई का महत्व और उसकी जरूरत के बारे में बताना चाहते हैं।

कोरोनाकाल में साफ-सफाई रखना और ज्यादा जरूरी है। इसमें कोई भी शर्म या संकोच नहीं होना चाहिए। अगर किसी को कहीं कोई गंदगी दिखती है, तो उसे खुद ही पहल करना चाहिए। देश के प्रधानमंत्री खुद इसको लेकर गंभीर हैं, तो हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम भी इसमें अपना सहयोग दें।

मंत्री ने 21 जुलाई को कॉल सेंटर पर बिजली उपभोक्ताओं से फोन पर बात की। -फाइल फोटो
मंत्री ने 21 जुलाई को कॉल सेंटर पर बिजली उपभोक्ताओं से फोन पर बात की। -फाइल फोटो

कॉल सेंटर में उपभोक्ताओं से फोन पर बात की
ऊर्जा मंत्री तोमर ने इससे पहले 21 जुलाई को कॉल सेंटर में बिजली उपभोक्ताओं से फोन पर बात की। रात 8 बजे अचानक गोविन्दपुरा स्थित कॉल सेंटर में पहुंचकर उन्होंने आम लोगों की समस्याओं को जाना। उन्होंने लगभग आधे घण्टे तक कई उपभोक्ताओं के कॉल अटैंड किए। उन्होंने कहा कि वे कभी भी यहां पहुंचकर बिजली उपभोक्ताओं से उनकी समस्याओं के संबंध में फीडबैक ले सकते हैं।

अपने ग्वालियर के निवास पर शिकायत निवारण केंद्र बनाया
तोमर ने ग्वालियर स्थित बंगले पर शिकायत निवारण केंद्र बना दिया। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उपभोक्ताओं को किसी भी हालत में विद्युत संबंधी समस्या होने पर परेशान न होना पड़े, इसलिए उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जाए।

उन्होंने विद्युत उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि विद्युत संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या होने पर वे पास जोन वितरण केंद्र में जाकर या ग्वालियर स्थित उनके निवास पर भी अपनी शिकायतों का निराकरण करा सकते हैं।

तोमर ने मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के 400 केवी उपकेंद्र सूखी सेवनिया भोपाल का 23 जुलाई को आकस्मिक निरीक्षण किया था। -फाइल फोटो
तोमर ने मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के 400 केवी उपकेंद्र सूखी सेवनिया भोपाल का 23 जुलाई को आकस्मिक निरीक्षण किया था। -फाइल फोटो

पूरी तरह ई-ऑफिस प्रणाली अपनाई

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भोपाल देश की पहली बिजली वितरण कंपनी बन गई है, जिसमें पूरे कंपनी कार्यक्षेत्र के कॉर्पोरेट से लेकर मैदानी दफ्तरों ने ई-ऑफिस प्रणाली से काम करना शुरू कर दिया है। कंपनी ने 27 जुलाई से एनआईसी ई-ऑफिस प्रणाली के माध्यम से ई-फाइल एवं पत्राचार शुरू कर दिया। तोमर ने ई-ऑफिस प्रणाली लागू करने पर पूरे स्टाफ को बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि इससे कोरोना संक्रमण के दौरान उपभोक्ताओं को घर बैठे सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

खबरें और भी हैं...