• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Everyone Born Before 2007 Will Be Vaccinated; It Is Not Mandatory To Register In The School

MP में टीनएजर्स का वैक्सीनेशन:स्कूल में रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी नहीं; कौन सी वैक्सीन लगेगी, क्या करना होगा, जानिए- सब कुछ

भोपाल9 महीने पहले

मध्यप्रदेश में अब 15 से लेकर 18 साल तक की उम्र के लड़के-लड़कियों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके लिए साल 2007 से पहले जन्म लिए सभी लाेग पात्र होंगे। टीका कैसे लगेगा? क्या प्रोसेस होगी? आइए, जानते हैं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्यप्रदेश के टीकाकरण संचालक डॉक्टर संतोष शुक्ला से...

टीकाकरण कब से शुरू होगा?
मध्यप्रदेश में 3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों को टीका लगना शुरू होगा।

बच्चों को टीका लगवाना क्यों जरूरी है?
प्रदेश में 18 साल से अधिक उम्र के 95% लोगों को कोरोना के डोज लग चुके हैं। अब बच्चे ही बिना टीका के हैं। इनकी भी वैक्सीन आ गई है। पहले 15 से 18 साल के उम्र के 48 लाख लड़के-लड़कियों को टीका लगना है।

टीका कहां लगाया जाएगा?
सरकारी और निजी स्कूल, नवोदय, केंद्रीय स्कूल आदि में लगाए जाएंगे।

क्या स्कूल में रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है?
स्कूल में रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य नहीं है। सीधे केंद्र पर जाकर टीका लगाया जा सकता है।

कौन सा टीका लगाया जाएगा?
सिर्फ कोवैक्सिन लगाया जाएगा।

दोनों डोज के बीच कितने दिन का अंतर होगा?
दोनों डोज के बीच कम से कम 28 दिन और अधिकतम 42 दिन का अंतर रहेगा।

रजिस्ट्रेशन कैसे कराएंगे?

  • 1 जनवरी से ऑनलाइन माध्यम से कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है।
  • स्कूल का आई कार्ड और अन्य पहचान पत्र पंजीकरण मान्य होगा।
  • रजिस्ट्रेशन यूनिक मोबाइल नंबर के माध्यम से होगा।

बीमारी नहीं होने पर क्या टीका लगवाना जरूरी है?
टीका लगाना सभी के लिए जरूरी है। इससे जानलेवा बीमारियों से सुरक्षा मिलती है, इसलिए इसे लगवाना चाहिए।

टीका खतरनाक तो नहीं?
यह वैज्ञानिकों द्वारा जांचा-परखा गया है। इससे बच्चों को कोई खतरा नहीं।

क्या बच्चों को बिना सुई के वैक्सीनेट किया जाएगा?
नहीं। बच्चों को दाहिने या बाएं बाजू की मांसपेशी में एडी सीरिंज से 0.5 एमएल दर्द रहित टीका लगाया जाएगा।

गांव में जो बच्चे स्कूल नहीं जाते उन्हें कैसे वैक्सीनेट करेंगे?
ऐसे बच्चों को चिन्हित कर केंद्रों पर आंगनबाड़ी समेत अन्य स्टाफ से लाकर वैक्सीन लगाई जाएगी।

यदि 28 दिन बाद किसी कारण से टीका नहीं लगवा सके तो कब तक लगवा सकते हैं?
दोनों डोज के बीच में न्यूनतम 28 और अधिकतम 42 दिन का अंतर होना जरूरी है। इस दौरान वैक्सीन से ज्यादा प्रभावी रहेगी। इसके बाद भी टीका लगा सकते है, लेकिन प्रभाव होता जाएगा।

यदि बच्चा दूसरे शहर में है तो फिर कहां लगेगा टीका?
प्रदेश में 98% बच्चों के आधार कार्ड है। देश में किसी भी सेंटर से टीका लगा सकते हैं। बच्चे का पहचान पत्र और मोबाइल नंबर होना चाहिए। मोबाइल होना जरूरी है।

बच्चे को थैलेसीमिया जैसी कोई बीमारी है तो भी टीका लगवा सकते हैं क्या?
हां, प्रदेश में अभी तक वैक्सीनेशन में सभी बीमारियों से पीड़ितों को टीके लगाए गए हैं।