• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Evidence Found For Selling 150 Crore Sand Cash, 35 Crore Entry In The Name Of Fake Companies

कौटिल्य और डिजियाना ग्रुप पर IT की रेड:150 करोड़ की रेत कैश बेचने के मिले प्रमाण, फर्जी कंपनियों के नाम पर 35 करोड़ की एंट्री

मध्य प्रदेश6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कौटिल्य एकेडमी और एक मीडिया समूह के विभिन्न ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी शुक्रवार को भी जारी रही। विभाग के सूत्रों का कहना है कि आयकर विभाग को टैक्स चोरी, फर्जी लोन, डमी कंपनियां और बेनामी संपत्तियों से जुड़े ढेरों दस्तावेज बरामद हुए हैं। दोनों समूह के ठिकानों से 3 करोड़ नकद और दो दर्जन बैंक लॉकर्स मिले हैं। फर्जी कंपनियों के नाम पर 35 करोड़ की एंट्री और करीब 150 करोड़ रुपए की रेत कैश (नकद) में बेचने के प्रमाण मिले हैं।

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने गुरुवार को इंदौर और भोपाल में कौटिल्य एकेडमी व डिजियाना ग्रुप के कई ठिकानों पर एक साथ छापा मारा था। यह छापेमारी दूसरे दिन भी इंदौर, भोपाल, उज्जैन और ग्वालियर के अलावा उत्तरप्रदेश, गुजरात और पश्चिम बंगाल के ज्यादातर ठिकानों पर चलती रही। इस दौरान आयकर विभाग को यह सबूत मिले हैं कि कौटिल्य एकेडमी ने हर साल करीब 6 करोड़ रुपए की राशि फीस के रूप वसूले गए लेकिन यह रकम खाते-बही में दर्ज नहीं की।

आयकर अफसरों को लोन संबंधी कुछ दस्तावेज ऐसे भी मिले हैं, जिनसे बेनामी संपत्तियों का ब्यौरा है। विभाग ने इस आधार पर बांदा में मंगलसिंह नामक व्यक्ति के यहां छापामारी की है। इस कार्रवाई में कैश लोन और बेनामी संपत्तियों से जुड़े दस्तावेज बरामद हुए। इन संपत्तियों के बारे में विभाग दोनों समूहों से जुड़े कर्मचारियों और परिजनों से पूछताछ कर रहा है।

कौटिल्य और डिजियाना ग्रुप पर IT की रेड:इंदौर और भोपाल के ऑफिसों में छानबीन, रिकॉर्ड खंगाल रही टीम