• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Famous Elephant 'Anarkali' Gives Birth To Female Cub 'Gayatri', Festive Atmosphere In The Reserve; Tourists Will Now Be Able To See It Too

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व से आई खुशखबरी:मशहूर हथिनी 'अनारकली' ने मादा हथिनी 'गायत्री' को जन्म दिया, रिजर्व में उत्सवी माहौल; टूरिस्ट अब इसके दीदार भी कर सकेंगे

मध्यप्रदेशएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बांधवगढ़ नेशनल पार्क में मादा हथिनी के साथ 'अनारकली' हथिनी। - Dainik Bhaskar
बांधवगढ़ नेशनल पार्क में मादा हथिनी के साथ 'अनारकली' हथिनी।

MP के उमरिया जिले में स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क से खुशखबरी आई है। यहां की मशहूर हथिनी 'अनारकली' ने मादा हथिनी को जन्म दिया है। रिजर्व मैनेजमेंट ने इसका नाम 'गायत्री' रखा है। इसके आने से पार्क में उत्सवी माहौल है। नेशनल पार्क 3 महीने बंद रहने के बाद 1 अक्टूबर से ही खुला है। ऐसे में टूरिस्ट अब 'गायत्री' के दीदार भी कर सकेंगे।

मध्यप्रदेश में जंगली हाथी बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में ही पाए जाते हैं। वर्तमान में 45 हाथी हैं। इनके अलावा मैनेजमेंट के पास पालतू हाथी भी है। इनमें से एक है अनारकली हथिनी। अनारकली के साथ रामा, पूनम जैसे कई हाथी टूरिस्टों की पसंद है। 1 अक्टूबर को पार्क खुलने के बाद से ही टूरिस्ट हाथियों के दीदार कर रहे हैं। अब वे नए मेहमान की चहल-कदमी भी देख पा रहे हैं।

8 को जन्म दे चुकी है 'अनारकली'

बांधवगढ़ नेशनल पार्क की 57 वर्षीय अनारकली हथिनी अब तक 8 को जन्म दे चुकी है। इनमें से 4 सलामत हैं और 4 की पहले ही मृत्यु हो चुकी है। अनारकली हथिनी को वर्ष 1978-79 में सोनपुर मेला बिहार से क्रय कर बांधवगढ़ लाया गया था। नेशनल पार्क के अंदर वन्य एवं वन्य-जीवों के रेस्क्यू ऑपरेशन में अनारकली का विशेष योगदान रहा है। नेशनल पार्क में हाथियों का वन एवं वन्य-जीव प्रबंधन में बड़ा योगदान है। यहां टूरिस्ट हाथी पर सवार होकर नेशनल पार्क के वन क्षेत्र और जीव-जंतुओं का अवलोकन कर पर्यटन का आनंद भी लेते हैं।

पार्क में ये खास

  • बांधवगढ़ पार्क में जंगली 45 हाथी हैं। मध्यप्रदेश में सिर्फ इसी जंगल में जंगली हाथी पाए जाते हैं।
  • 115 वयस्क बाघ भी पार्क में हैं।
  • 40 प्रकार के स्तनधारी, 300 प्रकार के पक्षी भी हैं।
  • उक्त पार्क 1536.93 स्वेक्यर किमी में फैला है, जो दिल्ली शहर से भी बड़ा है।
खबरें और भी हैं...