पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • For The First Time...not A Single Youth Leader From MP Is Involved; The State Organization Had Sent 4 Names Including Abhilash Pandey, None Of The Parameters Fit

भाजयुमो की राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित:पहली बार...MP से एक भी युवा नेता शामिल नहीं; प्रदेश संगठन ने भेजे थे अभिलाष पांडे सहित 4 नाम, पैरामीटर में एक भी फिट नहीं

मध्य प्रदेश21 दिन पहलेलेखक: राजेश शर्मा

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने बुधवार को अपनी टीम का ऐलान कर दिया है, लेकिन मध्य प्रदेश से एक भी युवा नेता को शामिल नहीं किया। ऐसा पहली बार हुआ है, जब यहां से राष्ट्रीय कार्यकारिणी में किसी को जगह नहीं दी गई। बताया जाता है, प्रदेश संगठन ने युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे सहित 4 नाम भेजे थे, लेकिन तय पैरामीटर में एक भी फिट नहीं हुआ।

बीजेपी युवा मोर्चा के अध्यक्ष व सांसद तेजस्वी सूर्या ने 7 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 3 महामंत्री और 7 मंत्री सहित कुल 22 पदाधिकारियों की घोषणा की है। सूर्या ने अपनी टीम में बंगाल से विधायक अनूप साहा और महाराष्ट्र से विधायक राम सतपुते को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में जिम्मेदारी दी गई है। 22 पदाधिकारियों की सूची के मुताबिक 7 राष्ट्रीय उपाध्यक्षों में उत्तर प्रदेश के अलावा पश्चिम बंगाल, बिहार, ओडिशा और उत्तराखंड से 1-1 नेता को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है, तो महाराष्ट्र से 2 को इस पद पर लाया गया है। मध्य प्रदेश से एक भी पदाधिकारी नहीं बनाया है।

पार्टी सूत्रों ने इसकी एक वजह यह भी बताई कि संगठन से नाम भेजे जाने के बाद किसी बड़े नेता ने केंद्रीय नेतृत्व के सामने दबाव नहीं बनाया। यह भी कहा जा रहा है कि उम्र के क्राइटेरिया के चलते चारों नाम विचार विमर्श के बाद बाहर किए गए हैं। प्रदेश से पिछले 11 साल तक राहुल कोठारी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में विभिन्न पदों पर रहे। कोठारी 2010 से 2013 तक राष्ट्रीय मंत्री रहे। इसके बाद राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और महामंत्री का पद उन्हें मिला। कोठारी के अलावा रीवा के गौरव तिवारी भी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री रह चुके हैं।

जानकारों का कहना है, एक तरफ बीजेपी मध्य प्रदेश में यूथ लीडरशिप को डेवलप करना चाहती है, दूसरी तरफ युवाओं को आगे बढ़ाने का मौका नहीं मिल पा रहा है। दरअसल, मध्य प्रदेश ने उमा भारती और शिवराज सिंह चौहान युवा मोर्चा को राष्ट्रीय अध्यक्ष दिए हैं। जो आगे चल कर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग भी युवा मोर्चा की राष्ट्रीय टीम में रह चुके हैं। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी युवा मोर्चा में राष्ट्रीय पदाधिकारी रह चुके हैं।

ये पहला मौका है जब नई कार्यकारिणी में मध्य प्रदेश से एक भी युवा नेता राष्ट्रीय पदाधिकारी नहीं है। हालांकि एक नेता का कहना है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी में करीब 6 पद खाली रखे गए हैं, जिसमें मध्य प्रदेश से युवाओं की नियुक्ति होगी।

खबरें और भी हैं...