• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Freedom Of Religion Bill Can Be Passed; For The Debate In The House, The Congress Had Sought An Hour And A Half, Only A Time Of 15 Minutes Was Fixed.

MP बजट सत्र का छठवां दिन:लव जिहाद के खिलाफ विधेयक विधानसभा में पेश; सीधी बस हादसे में मरने वालों के परिजनों को बीमा राशि दिलाने कोर्ट में सरकार लड़ेगी केस

भोपाल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बजट सत्र के छठवें दिन लव जिहाद के खिलाफ लागू धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021 पाारित हो सकता है। - Dainik Bhaskar
बजट सत्र के छठवें दिन लव जिहाद के खिलाफ लागू धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021 पाारित हो सकता है।
  • सीबीएसई एवं माशिमं से मान्यता प्राप्त स्कूल सिर्फ टयूशन फीस ही ले सकेंगे
  • शिक्षा मंत्री ने कहा- आज ही कलेक्टरों को आदेश का पालन कराने पत्र भेजा जाएगा

विधानसभा के बजट सत्र के छठवें दिन सोमवार को लव जिहाद के खिलाफ धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2021 विधानसभा में पेश हो गया है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भोजन अवकाश के बाद विधेयक सदन पटल पर रखा। डा. मिश्रा ने बताया कि इस विधेयक पर अध्यक्ष गिरीश गौतम की अनुमति मिलने के बाद चर्चा होगी।

सरकार इस कानून को 6 माह की अवधि के लिए अध्यादेश के माध्यम से 9 जनवरी 2021 को प्रदेश में लागू कर चुकी है। इसमें प्रलोभन देकर, बहलाकर, बलपूर्वक या मतांतरण करवाकर विवाह करने या करवाने वाले को एक से 10 साल के कारावास और अधिकतम एक लाख रुपए तक से दंडित करने का प्रावधान है। अध्यादेश लागू करने के बाद से 11 फरवरी तक 23 केस दर्ज हुए हैं। इनमें भोपाल संभाग में सात, इंदौर में पांच, जबलपुर व रीवा में चार-चार और ग्वालियर में तीन मामले दर्ज हैं।

विधानसभा में पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने सीधी बस हादसे पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया था। जिस पर सदन में करीब दो घंटे चर्चा हुई। इसके बाद परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि बस हादसे में मरने वालों के परिजनों को बीमा की राशि अधिक से अधिक दिलाने के लिए कोर्ट में सरकार केस लड़ेगी। उन्होंने कहा कि हादसे की मजिस्ट्रियल जांच हो रही है। जांच की रिपोर्ट में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कोरोनाकाल में बच्चों से ट्यूशन फीस ही ले सकेंगे स्कूल

इससे पहले, प्रश्नकाल के दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा, CBSE स्कूल हो या माध्यमिक शिक्षा मंडल से अधिमान्य स्कूल कोरोना काल में बच्चों से सिर्फ ट्यूशन फीस ले सकेंगे। यदि कोई स्कूल निर्देशों का पालन नहीं करता, तो उसकी अधिमान्यता समाप्त की जाएगी।

उन्होंने सदन में कहा, सरकार आज ही प्रदेश के सभी कलेक्टर को निर्देश जारी करेगी। इससे पहले, महिदपुर से BJP विधायक बहादुर सिंह चौहान ने धार के एक स्कूल का मामला उठाया था। इस पर कांग्रेस और BJP के कई विधायकों ने आरोप लगाया कि कई स्कूल बच्चों से पूरी फीस ले रहे हैं। नहीं देने पर बच्चों को परीक्षा से वंचित किया जा रहा है।

भोजन अवकाश के बाद के सत्र में लव जिहाद के खिलाफ कानून को पास कर दिया गया। महज एक मिनट में यह कानून पास हो गया। विपक्ष की तरफ से इस पर कोई सवाल नहीं किया गया। सदन में कांग्रेस के पांच पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह, पीसी शर्मा, विजयलक्ष्मी साधौ, बाला बच्चन, ब्रजेंद्रसिंह राठौर मौजूद थे, इसके बाद भी कोई सवाल नहीं किया गया। इसके बाद अध्यक्ष ने बहुमत के आधार पर कानून पास कर दिया।

पहली बार दो विधायक सदन की कार्यवाही से ऑनलाइन जुड़े

मध्यप्रदेश विधानसभा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जब दो विधायक सदन की कार्यवाही में ऑनलाइन जुड़े। मंडला से विधायक नारायण सिंह ने एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा के मामले में जनजातीय मंत्री मीना सिंह से सवाल किया। इसी तरह, कांग्रेस विधायक डॉ. अशोक मर्सकोले ने भी ऑनलाइन जवाब दिया। हालांकि इसे लेकर संसदीय कार्य मंत्री और गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अध्यक्ष की अनुमति से यह व्यवस्था जारी रहेगी, लेकिन यह विशेष परिस्थितियों में ही ऐसी अनुमति दी जाए, ताकि सदन की गरिमा और गंभीरता बनी रहे।

MP का आर्थिक सर्वेक्षण
सरकार आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट 2 मार्च मंगलवार को विधानसभा में पेश करेगी। इससे एक दिन पहले यानी सोमवार को सरकार मध्यप्रदेश का आर्थिक सर्वेक्षण विधानसभा सदस्यों को सरक्युलेट करेगी। हालांकि इस सर्वेक्षण को सदन पटल पर नहीं रखा जाता है।

MP का आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21:कोरोनाकाल में प्रति व्यक्ति आमदनी 4 हजार 870 रुपए घटी, बेरोजगारों की संख्या 25 लाख तक पहुंची

खबरें और भी हैं...