पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior Morena Coronavirus Cases Count Update | 98 People Found Corona Positive As Virus Cases Jump Increased To 1074 In Madhya Pradesh Morena City

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:मुरैना में कोरोना के 98 नए मरीज, अप्रैल में 42 व मई में 23 सैंपल में एक पॉजिटिव जून में हर 8वां और जुलाई में 7वां मरीज संक्रमित

मुरैना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग की टीम किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर जाकर लोगों का परीक्षण कर रही है। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग की टीम किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर जाकर लोगों का परीक्षण कर रही है।
  • नए मरीजों को आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करने के लिए सोमवार को 87 स्वस्थ्य लोग डिस्चार्ज किए गए
  • कोरोना वायरस का संक्रमण को सामुदायिक स्तर पर फैलने से कैसे रोका जाए, इस पर प्रशासन अब तक रणनीति नहीं बना सका है

जिले में कोरोना के 98 नए सामने आने के बाद अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1074 हो गई है। कल देर रात 626 कोरोना संदिग्ध मरीजों की आई। जांच रिपोर्ट में 98 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि 528 लोगों की जांच निगेटिव मिली है। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर आरसी बांदिल ने यहां बताया कि जिले में अब तक 1074 मरीज कोरोना पोजिटिब पाए गए हैं और 626 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिन्हें अस्पताल के आइसोलेशन बार्ड से छुट्टी देदी गई है। अब जिले में कोरोना के 407 एक्टिव केस हैं। जिनका उपचार आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है।

626 सैंपल की जांच रिपोर्ट में सोमवार को 98 मरीज पॉजीटिव पाए गए। इस प्रकार अब तक संक्रमित मरीजों की संख्या मुरैना जिले में 1081 तक पहुंच गई है। नए मरीजों को आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करने के लिए सोमवार को 87 स्वस्थ्य लोग डिस्चार्ज किए गए। सोमवार को 11 व 12 जुलाई के शेष 626 सैंपल की जांच रिपोर्ट रात 8.30 बजे जारी हुई तो 98 मरीजों के पॉजीटिव होने के आंकड़े ने हडकंप मचा दिया। हालांकि इससे पहले 104 तक संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं लेकिन 13 जुलाई की रिपोर्ट इसलिए मायने रखती है क्योंकि अब वह लोग संक्रमित होकर जिला अस्पताल पहुंच रहे हैं जिनके परिवार के सदस्य पहले से आईसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं।

हर आठवां मरीज संक्रमित
कोरोना वायरस का संक्रमण को सामुदायिक स्तर पर फैलने से कैसे रोका जाए, इस पर प्रशासन अब तक रणनीति नहीं बना सका है। उधर जिले में संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है। अप्रैल में 42 और मई में 23 सैंपल में एक पॉजिटिव मरीज मिल रहा था। जैसे-जैसे स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिंग बढ़ाई, मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ी। जून में 8वां मरीज संक्रमित मिल रहा था। 12 जुलाई तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो यह अनुपात और बढ़ गया है। अब हर 7 सैंपल में एक संक्रमित मिल रहा है। इस प्रकार अप्रैल से तुलना करें तो जुलाई में संक्रमण की रफ्तार छह गुना बढ़ गई है।

12 जुलाई तक 10292 लोगों की सैंपलिंग
मुरैना जिले में 26 मार्च से लेकर 12 जुलाई तक 10292 लोगों की सैंपलिंग की गई है। इनमें अब तक 983 मरीज पॉजिटिव आए हैं जबकि 973 सैंपल की रिपोर्ट पेंडिंग हैं। 9319 सैंपल के आधार पर देखें कि औसतन हर नौ मरीज में से एक कोरोना संक्रमित मिल रहा है। सैंपलिंग को बढ़ाकर 1000 से 1200 तक किया जाए तो संक्रमित मरीजों की औसत संख्या और भी बढ़ेगी। संक्रमित मरीज जितनी जल्दी सामने आएंगे, उतनी तेजी से संक्रमण को कम्युनिटी में फैलने से रोका जा सकेगा लेकिन बीते 5 दिनों की सैंपलिंग देखें तो 11 जुलाई को छोड़कर अन्य किसी भी दिन 550 से ज्यादा लोगों की सैंपलिंग नहीं की गई। 11 जुलाई को 654 लोगों के सैंपल लिए गए।

निर्देश: रोज 1000 सैंपल हों, हकीकत: सिर्फ एक दिन 654 सैंपल हुए
स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुलेमान ने मुरैना प्रवास के दौरान कमिश्नर व कलेक्टर से चर्चा के दौरान निर्देश दिए थे कि काेरोना संक्रमित मरीजों को सामने तभी लाया जा सकता है, जब मुरैना जिले में प्रतिदिन 1000 लोगों की सैंपलिंग की जाए। जो लोग जांच में काेरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, उनके कम से कम 15 काॅन्टेक्ट पर्सन के भी सैंपल लिए जाएं लेकिन एसीएस के निर्देशों के 4 दिन बाद भी सैंपलिंग की संख्या 550 से ज्यादा नहीं बढ़ पाई है। अभी कॉन्टेक्ट पर्सन्स में अधिकतम पांच लोगों के ही सैंपल हो पा रहे हैं। इस स्थिति पर कलेक्टर प्रियंका दास ने सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की जमकर क्लास ली।

अब डीआरडीई नहीं भेज रहे सैंपल
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी बीते 3 दिन से सैंपल्स को जांच के लिए रक्षा मंत्रालय की डीआरडीई लैब नहीं भेज रहे हैं। सभी सैंपल्स अब जीआरएमसी ग्वालियर भेजे जा रहे हैं। जीआरएमसी में अधिक संख्या में सैंपल पहुंचने के कारण वहां से 2-2 दिन बाद भी जांच रिपोर्ट सीएमएचओ कार्यालय काे नहीं मिल पा रही है। प्रशासन सैंपल्स को जांच के लिए डीआरडीई क्यों नहीं भेज रहा है, इसके बारे में अफसर कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें