• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Instructions Issued By Panchayat And Rural Development Department; Panchayat Secretary And Full time Employees Receiving Honorarium Are Also Included In The Scheme

कोरोना अनुग्रह योजना में पंचायत कर्मी भी शामिल:पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निर्देश, पंचायत सचिव और मानदेय प्राप्त करने वाले पूर्णकालिक कर्मचारी भी योजना में शामिल

मध्य प्रदेश2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान प्रदेश में लागू मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना में जिला, जनपद और पंचायतों के कर्मचारी भी शामिल होंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिला पंचायत सीईओ को इस संबंध में दिशा निर्देश जारी किए हैं। कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना के तहत पीड़ित परिवार को 5 लाख रुपए की अनुग्रह राशि दिए जाने का प्रावधान है।

विभाग के विभिन्न कार्यक्रमों के लिए नियुक्त सेवायुक्तों के संबंध में उनकी सेवा शर्तों के अनुसार योजना के क्रियान्वयन को लेकर निर्णय लिया जाएगा। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि शासन ने योजना सभी नियमित, स्थाई कर्मी, दैनिक वेतनभोगी, तदर्थ, संविदा, आउटसोर्स सहित अन्य कर्मचारियों के लिए लागू की है।

जिला, जनपद और पंचायतों के अधीक्षक, सहायक लेखाधिकारी, लेखापाल, शीघ्रलेखक, सहायक ग्रेड-दो, सहायक ग्रेड-तीन, वाहन चालक, भृत्य, चौकीदार, सचिव समेत मानदेय प्राप्त करने वाले पूर्णकालिक और अन्य कर्मचारी योजना में शामिल होंगे। इसके तहत कोरोना के उपचार के दौरान या स्वस्थ होने के बाद संक्रमित होने के 60 दिन में बीमारी से मृत्यु पर परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है। बता दें कि मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना 30 मार्च 2021 से 31 जुलाई 2021 तक के लिए लागू की गई है।

योजना का लाभ सभी नियमित, स्थाई कर्मचारी, कार्यभारित व आकस्मिक निधि से वेतन पाने वाले, दैनिक वेतन भोगी, संविदा, कलेक्टर दर पर कार्यरत कर्मचारियों को मिलेगा। इसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, कोटवार भी योजना में शामिल होंगे। इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 17 मई 2021 को की थी।

खबरें और भी हैं...