• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Intermittent Drizzle Continued In Bhopal Hoshangabad Since Morning, Chhindwara, Ujjain And Sagar Remained Cloudy; Heavy Rain Expected In Many Districts In 24 Hours

MP के 20 जिलों में लगातार बारिश:तवा डैम सिर्फ डेढ़ फीट खाली, कभी भी खोले जा सकते हैं गेट, नर्मदा का जलस्तर बढ़ेगा; इंदौर-भोपाल में रुक-रुक बरस रहा पानी

मध्यप्रदेशएक वर्ष पहले
बैतूल जिले के सारनी स्थित सतपुड़ा डैम के 5 गेट खोल दिए गए हैं।

MP में मानसून एक्टिव होने से कई जिले तरबतर हो गए हैं। बीते 24 घंटे में 20 जिलों में बारिश हुई। सबसे ज्यादा छिंदवाड़ा-होशंगाबाद जिले में 2 इंच बारिश दर्ज की गई। सतपुड़ा के पहाड़ों पर जोरदार बारिश के कारण तवा डैम का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। इसके गेट आज या कल में कभी भी खोले जा सकते हैं। अलर्ट जारी कर दिया गया है। यह पहला मौका होगा जब ग्वालियर-चंबल को छोड़कर मध्यप्रदेश के किसी बड़े डैम के गेट खुलने जा रहे हैं।

इससे पहले, बैतूल में सतपुड़ा डैम फुल हो जाने पर उसके 5 गेट, और पारसडोह डैम के 3 गेट खोले गए हैं। वहीं, सीधी में आकाशीय बिजली गिरने से महिला की मौत हो गई है।

वहीं, गुरुवार सुबह से भोपाल-इंदौर समेत कई जिलों में रुक-रुककर रिमझिम बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में कई जिलों में तेज बारिश होने के आसार जताए हैं।भोपाल में गुरुवार सुबह से ही मौसम खुशनुमा बना हुआ है। कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश हो रही है। होशंगाबाद में भी बारिश का दौर बना हुआ है। छिंदवाड़ा में पिछले 24 घंटे में अच्छी बारिश हुई। बुधवार रात में भी यह दौर चलता रहा। गुरुवार सुबह छिंदवाड़ा, उज्जैन, सागर समेत कई जिलों में बादल छाए हुए हैं।

भोपाल स्थित शाहपुरा तालाब।
भोपाल स्थित शाहपुरा तालाब।

24 घंटों के दौरान यहां हुई बारिश
बीते 24 घंटे में छिंदवाड़ा और होशंगाबाद में सबसे ज्यादा 2 इंच बारिश हुई है। रतलाम में 1.7 इंच, बैतूल में 1.3 इंच बारिश दर्ज की गई। टीकमगढ़ में आधा इंच से ज्यादा बारिश हुई। वहीं जबलपुर, उज्जैन, रीवा, गुना, धार, मंडला, दमोह, सतना, इंदौर, ग्वालियर, नरसिंहगढ़ और उमरिया में भी बूंदाबांदी हुई।

सतपुड़ा डैम के 5 गेट खुले

बैतूल जिले में लगातार बारिश होने से ताप्ती नदी का जलस्तर बढ़ गया है। ऐसे में पारसडोह डैम के 3 गेट खोलना पड़े हैं। वहीं, सतपुडा बांध के भी 5 गेट खोल दिए गए हैं। सुबह सवा 11 बजे पारसडोह डैम के 6 में से 3 गेट 30-30 सेमी. खोले गए हैं। इससे 124 क्यूबिक प्रति सेकेंड पानी छोड़ा जा रहा है। बांध में 222 क्यूबिक मीटर प्रति सेकेंड पानी आ रहा है। उधर, सीधी जिले के कुशमी के बेंदो गांव में चौहड़ा डोल के पास बुधवार देर शाम तेज बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरी थी। यहां भैंस चरा रही बेंदो गांव की रहने वाली महिला सुभरनियां पति फकीर सिंह की मौत हो गई। गुरुवार को भुईमाड़ थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। वहीं, आकाशीय बिजली गिरने से एक भैंस की भी मौत हुई है।

सतपुड़ा डैम फुल होने पर उसका एक गेट खोलना पड़ा है।
सतपुड़ा डैम फुल होने पर उसका एक गेट खोलना पड़ा है।

यह सिस्टम सक्रिय
वर्तमान में उत्तर/ पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में सक्रिय चक्रवात गतिविधियों के प्रभाव में पश्चिमोत्तर बंगाल की खाड़ी में निम्न दाब क्षेत्र सक्रिय हो चुका है। मानसूनी ट्रफ लाइन बीकानेर, जयपुर, गुना, सिवनी, गोंदिया, गोपालपुर और निम्न दाब क्षेत्र से होते हुए पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक फैली है। ट्रफ लाइन साउथ MP में अभी कुछ और नीचे आएगी। पश्चिमोत्तर राजस्थान-पंजाब और पूर्वोत्तर अरब सागर-कच्छ के क्षेत्रों में चक्रवातीय गतिविधियां हैं। इसी के कारण प्रदेश भर में गुरुवार को भी अच्छी बारिश होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...