पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Invitation Will Be Given By Giving Yellow Rice From Door To Door To Get Teak; Shivraj Said Delta Variant Is Dangerous, Vaccine Is The Only Effective Way To Protect

MP में 21 जून से वैक्सीनेशन महाअभियान:टीका लगवाने के लिए घर-घर पीले चावल देकर न्योता देंगे; CM ने कहा- डेल्टा वैरियंट खतरनाक है, वैक्सीन ही कारगर उपाय

मध्य प्रदेश3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 जून तक 48 लाख डोज मिलने की उम्मीद, शुक्रवार तक मिलेंगे 10 लाख 75 हजार डोज

मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए 21 जून से महा अभियान शुरू हो रहा है। वैक्सीन लगवाने के लिए जनप्रतिनिधि से लेकर सरकारी कर्मचारी और अधिकारी घर-घर जाकर पीले चावल देकर न्योता देंगे। अभियान का पहला चरण 30 जून तक चलेगा। 21 जून को प्रदेश में 6 हजार 700 सेंटर में टीकाकरण होगा। इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को वर्चुअल बैठक की। इसमें सभी मंत्री और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा, प्रदेश में कोरोना काबू में आ चुका है, लेकिन कर्फ्यू में छूट बढ़ाए जाने के बाद लापरवाही दिखने लगी है। अनलॉक के बाद बाजारों में भीड़ हो रही है। उन्होंने कहा कि डेल्टा वैरियंट खतरनाक है। यदि सतर्क नहीं रहे, तो संक्रमण फिर पैर पसार सकता है। टेस्ट जारी रहेंगे। क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को मॉनिटरिंग करनी होगी। फिर से लॉकडाउन की नौबत नहीं आना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा, योग दिवस पर वैक्सीनेशन अभियान शुरू किया जा रहा है। इस दौरान 18 से 44 साल आयु के ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाया जाएगा। अभियान को गंभीरता से चलाने की जिम्मेदारी क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की रहेगी।

अभियान सुबह 10 बजे से शुरू होगा। 7 हजार वैक्सीनेशन मोटिवेटर तैनात होंगे। वे मंत्री, सांसद विधायक पूर्व विधायक, सामाजिक कार्यकर्ता, स्वयं सेवी संगठन, धर्म गुरु, क्लबों के सदस्य होंगे। डॉक्टर, प्रोफेसर, वकीलों को भी इस अभियान से जोड़ा जाएगा। अफसर और रिटायर अफसर, खिलाड़ी, कलाकारों को शामिल किया जाएगा।

शुक्रवार तक मिलेंगे 10.75 लाख डोज
मुख्यमंत्री ने बताया, मप्र को 30 जून तक केंद्र सरकार वैक्सीन के 48 लाख डोज देगी। इसमें से 18 जून तक 10 लाख 75 हजार डोज मिल जाएंगे, जबकि 30 जून तक हर दिन 6 लाख 50 हजार डोज लगाने के टारगेट के हिसाब से 65 लाख डोज की जरूरत है। मप्र को कोवीशील्ड के 44 लाख 50 हजार और कोवैक्सिन के 3 लाख 50 हजार डोज मिलेंगे।

CM ने दिए ये निर्देश
- हर सेंटर में वेटिंग रूम होना चाहिए।
- बुजुर्गों को सेंटर तक लाने की व्यवस्था।
- जनप्रतिनिधि अपने प्रभाव का इस्तेमाल करें।
- डोज बेकार ना हों।
- टीका लगवाने वालों को अन्य लोगों को प्रेरित करने का संकल्प दिलाएं।

महानगरों के लिए पहले दिन का टारगेट

जिलाडोज
इंदौर1,11000
भोपाल83,250
जबलपुर37,740
ग्वालियर26,860
खबरें और भी हैं...