• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • The Mortal Remains Of The Late MP Reached Shahpur In Burhanpur, 8 Ministers And The Speaker Of The Legislative Assembly Will Be Included In The Last Visit.

खंडवा MP नंदकुमारसिंह चौहान पंचतत्व में विलीन:मेडिकल कॉलेज और बुरहानपुर जिला अस्पताल का नाम नंदकुमारसिंह चौहान के नाम पर होगा, श्रद्धांजलि सभा में CM की घोषणा

भोपाल9 महीने पहले
बेटे हर्षवर्धन सिंह चौहान ने मुखाग्नि दी।
  • भावुक हो गए CM, मंत्री तुलसी सिलावट ने संभाला
  • केंंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गहलोत, प्रहलाद पटेल, राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई दिग्गज नेता अंतिम संस्कार में हुए शामिल

मध्यप्रदेश के खंडवा से BJP सांसद नंदकुमारसिंह चौहान आज पंचतत्व में विलीन हो गए। उनके बेटे हर्षवर्धन सिंह चौहान ने मुखाग्नि दी। इसके पहले शाहपुर में श्रद्धांजलि सभा हुई। यहां CM ने कहा कि नंदकुमारसिंह चौहान के अधूरे कामों को पूरा किया जाएगा। खंडवा के मेडिकल कॉलेज और बुरहानपुर के जिला अस्पताल का नाम नंदकुमारसिंह चौहान के नाम पर किया जाएगा। शाहपुर नगर पंचायत का नया भवन बनाकर उनकी भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी। गन्ना केंद्र का नाम भी नंदकुमारसिंह चौहान के नाम पर किया जाएगा।

CM शिवराज सिंह भावुक हो गए तो उन्हें मंत्री तुलसी सिलावट और सांसद राकेश सिंह ने संभाला।
CM शिवराज सिंह भावुक हो गए तो उन्हें मंत्री तुलसी सिलावट और सांसद राकेश सिंह ने संभाला।

CM दोपहर एक बजे शाहपुर पहुंच गए थे। अंतिम संस्कार में शामिल हुए। CM शिवराज सिंह चौहान ने अर्थी को कंधा भी दिया। उन्होंने नंदकुमारसिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन को सांत्वना दिया। CM शिवराजसिंह चौहान इस दौरान भावुक हो गए। उन्हें मंत्री तुलसी सिलावट और सांसद राकेश सिंह ने संभाला। इसके बाद शाम पांच बजे हेलिकॉप्टर से भोपाल के लिए निकले। सांसद के अंतिम संस्कार में CM शिवराज सिंह चौहान के अलावा केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, मध्यप्रदेश सरकार के 8 मंत्री समेत कई नेता शामिल हुए।

देर रात सांसद का पार्थिव शरीर बुरहानपुर स्थित उनके पैतृक गांव शाहपुर लाया गया था। उनके पार्थिव शरीर के यहां लाए जाने की सूचना पर सैंकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता और उनके समर्थक यहां जुटे रहे। देर रात नंदकुमारसिंह चौहान को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरा शहर सड़क पर नजर आया। इससे पहले उनका शव भोपाल से आष्टा, सतवास, नर्मदानगर से खंडवा ले जाया गया था। रात 2:30 बजे खंडवा के मुख्य बाजार से उनका शव इंदिरा चौक स्थित भाजपा कार्यालय ले जाया गया। खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा, पूर्व महापौर सुभाष कोठारी समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

शाहपुर में अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
शाहपुर में अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस ने श्रद्धासुमन अर्पित किए
पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस ने श्रद्धासुमन अर्पित किए

अंतिम यात्रा में शामिल हुए आठ मंत्री समेत विधानसभा अध्यक्ष भी
सांसद के अंतिम यात्रा में मध्यप्रदेश सरकार के आठ मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष शामिल हुए। इनमें कमल पटेल, गोपाल भार्गव, संजय पाठक, गिरीश गौतम (विधानसभा अध्यक्ष), प्रेम सिंह पटेल, तुलसी सिलावट, उषा ठाकुर, डॉक्टर मोहन यादव और डॉक्टर अरविंद सिंह भदौरिया शामिल थे।

मंगलवार को भोपाल में मुख्यमंत्री समेत अन्य ने दी थी श्रद्धांजलि
खंडवा से भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का मंगलवार सुबह निधन हो गया था। उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनका पार्थिव शरीर देर शाम भोपाल पहुंचा था। इस दौरान स्टेट हैंगर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने नंदकुमार सिंह चौहान के पार्थिव शरीर को कांधा दिया। इस अवसर पर मंत्री विश्वास सारंग, तुलसी सिलावट, विधायक अजय विश्नोई समेत कई बीजेपी नेता भी मौजूद रहे। पार्थिव शरीर स्टेट हैंगर से बीजेपी प्रदेश कार्यालय अंतिम दर्शन के लिए लाया गया।

बता दें कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनके फेफड़ों में संक्रमण फैल गया था। इसके बाद उन्हें 5 फरवरी को मेदांता में एडमिट कराया गया था। उनकी रिपोर्ट निगेटिव भी आ गई थी, लेकिन उनकी तबीयत में सुधार नहीं हो रहा था।

एंबुलेंस में सांसद का पार्थिव शरीर।
एंबुलेंस में सांसद का पार्थिव शरीर।

नंदकुमार चौहान मध्यप्रदेश विधानसभा के बुरहानपुर से विधायक रहे थे। 1996 में 11वीं लोकसभा में भाजपा ने उन्हें खंडवा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया। वह जीतकर संसद पहुंचे। इसके बाद 12वीं,13वीं और 14वीं लोकसभा के सदस्य रहे। 15वीं लोकसभा के चुनाव में खंडवा के कांग्रेस प्रत्याशी अरुण यादव से वे चुनाव हार गए।

निमाड़ में विकास का पर्याय बनकर रहे और बोले ऐसे कि समर्थक ही नहीं विरोधी भी कायल बन गए

इन पदों पर रहे थे

1978-80 और 1983-87

चेयरमैन ,नगर पालिका परिषद ,शाहपुर ,जिला खंडवा
1985-96सदस्‍य, मध्‍य प्रदेश विधान सभा
1996ग्‍यारहवीं लोक सभा के लिए निर्वाचित
1996-97सदस्‍य, वाणिज्‍य संबंधी स्‍थायी समिति
1998बारहवीं लोक सभा के लिए पुन:निर्वाचित (दूसरा कार्यकाल)
1998-99सदस्‍य, कृषि संबंधी स्‍थायी समिति,सदस्‍य, परामर्शदात्री समिति, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय
1999तेरहवीें लोक सभा के लिए पुन:निर्वाचित (तीसरा कार्यकाल)
1999-2000

सदस्‍य, याचिका समिति

सदस्‍य, वाणिज्‍य संबंधी स्‍थायी समिति

सदस्‍य, लाभ के पदों संबंधी संयुक्‍त समिति

2004

चौदहवीं लोक सभा के लिए पुन:निर्वाचित (चौथा कार्यकाल),

सदस्‍य, ऊर्जा संबंधी स्‍थायी समिति

सदस्‍य, याचिका समिति

मई, 2014सोलहवीं लोक सभा के लिए पुन:निर्वाचित (पंचवा कार्यकाल)
14 अगस्‍त, 2014सदस्‍य, सार्वजनिक उपक्रमों संबंधी समिति
1 सितम्‍बर. 2014

सदस्‍य, स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण संबंधी स्‍थायी समिति

सदस्‍य, परामर्शदात्री समिति, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा पुनरूद्धार मंत्रालय

मई, 2019सत्रहवीं लोक सभा के लिए पुन: निर्वाचित
खबरें और भी हैं...