पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Koono And Noradehi Sanctuary Mufid, Now Dehradun's Senior Scientist Will Be Surveyed For The Settlement Of African Cheetah

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाइल्ड लाइफ बोर्ड की बैठक:अफ्रीकी चीतों के लिए मध्य प्रदेश का कूनो और नौरादेही अभयारण्य अनुकूल, देहरादून के साइंटिस्ट करेंगे फाइनल सर्वे

भोपाल7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अफ्रीकी चीता की बसाहट के लिए कूनो और नौरादेही अभयारण्य उपयुक्त पाए जाने की संभावना प्रबल बन गई है।- प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
अफ्रीकी चीता की बसाहट के लिए कूनो और नौरादेही अभयारण्य उपयुक्त पाए जाने की संभावना प्रबल बन गई है।- प्रतीकात्मक फोटो।
  • सीएम शिवराज ने कहा- वन्यप्राणी संरक्षण और विकास में संतुलन हो

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में गुरुवार को मंत्रालय में वाइल्ड लाइफ बोर्ड की बैठक हुई। इसमें बताया गया कि अफ्रीकी चीता की बसाहट के लिए कूनो और नौरादेही अभयारण्य उपयुक्त पाए जाने की संभावना प्रबल बन गई है। अब भारतीय वन्य जीव संस्थान देहरादून के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. वाय.वी. झाला से इन दोनों अभयारण्य में अफ्रीकी चीतों की अनुकूलता के संबंध में प्रारंभिक सर्वे कराया जाएगा।

बैठक में बताया गया कि देश के कूनो राष्ट्रीय उद्यान और नौरादेही वन्यप्राणी अभयारण्य में चीतों की बसाहट के लिए उपयुक्त पाए जाने की स्थिति है। कूनो राष्ट्रीय उद्यान (750 वर्ग किलोमीटर) में मात्र एक गांव है। जिसके विस्थापन की प्रक्रिया चल रही है। इसी तरह नौरादेही वन्यप्राणी अभयारण्य (1 हजार वर्ग किलोमीटर से अधिक एरिया ) सागर, दमोह और नरसिंहपुर जिलों में स्थित है। यहां वर्तमान में 63 में से 13 गांव विस्थापित किए जा चुके हैं। अन्य 15 गांवों के विस्थापन की प्रक्रिया प्रचलन में है। इसके दृष्टिगत मध्यप्रदेश के इन संरक्षित क्षेत्रों में अफ्रीकी चीते की बसाहट की संभावनाएं देखी जा रही है।

बैठक में प्रदेश के सभी नेशनल पार्क में नाइट जंगल सफारी और बैलून सफारी शुरू करने पर चर्चा की गई। बैठक में बताया गया कि सरकार जंगली हाथियों के रेस्क्यू और घड़ियालों की पुनर्स्थापना पर विचार कर रही है। साथ ही टाइगर स्ट्राइक फोर्स को मजबूत बनाने पर रणनीति तैयार कर ली गई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि वन्य क्षेत्रों और वन्यप्राणियों का संरक्षण और वन क्षेत्रों में विकास कार्य इस तरह हों कि इससे मानव जीवन पर भी विपरीत प्रभाव न पड़े। दोनों के मध्य संतुलन स्थापित हो।

बैठक में प्रदेश के प्रमुख अभयारण्य में नाइट सफारी और बैलून सफारी शुरू करने पर विचार किया गया। साथ ही घड़ियालों के पुनर्वास और जंगली हाथियों के रेस्क्यू पर चर्चा की गई। बोर्ड के सदस्य अभिलाष खांडेकर ने सुझाव दिया कि राजस्थान में तेंदुआ रिजर्व बनाया जा रहा है, मध्यप्रदेश में भी ऐसा संभव है। मुख्यमंत्री ने खांडेकर के इस सुझाव पर सहमति जताई। बैठक में वन मंत्री विजय शाह, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव वन अशोक बर्णवाल और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser