• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Betul Primary School Teacher Property Case Update; Bhopal Lokayukta Action Against Pankaj Srivastava

5 करोड़ का प्राइमरी टीचर:23 साल की सर्विस में मिली 36 लाख सैलरी, लोकायुक्त ने मारा छापा; 32 एकड़ जमीन समेत आठ प्लाॅट और 6 दुकानें मिलीं

भोपाल/सारणी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार्रवाई के दौरान पंकज श्रीवास्तव कुछ इस तरह बैठे रहे। - Dainik Bhaskar
कार्रवाई के दौरान पंकज श्रीवास्तव कुछ इस तरह बैठे रहे।
  • तीन बच्चे बुरहानपुर की अकादमी में पढ़ाई कर रहे, ब्याज पर लगाता था पैसा
  • शुरुआत 2200 रुपए से हुई थी, अब प्राथमिक शिक्षक
  • 11 घंटे चली कार्रवाई के बाद तीन सूटकेस में दस्तावेज ले गई टीम

भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने राजधानी में बैतूल के प्राथमिक शिक्षक पंकज श्रीवास्तव के यहां छापा मारा। उनके यहां आय से अधिक संपत्ति मिली है। घर में मिले दस्तावेजों के मिलने के बाद पुलिस की आंखें फटी रह गईं।

वर्ष 1998 में संविदा शिक्षक से भर्ती हुए पंकज ने 23 साल में ही 5 करोड़ से अधिक की संपत्ति जमा कर ली, जबकि इस दौरान उन्हें वेतन से महज 36 लाख 50 हजार रुपए मिले। उनके पास से बड़ी मात्रा में कृषि भूमि और आवासी प्लाॅट की रजिस्ट्री मिली हैं। शाम 6 बजे तक करीब 11 घंटे कार्रवाई चली। इस दौरान टीम तीन सूटकेस में यहां से दस्तावेज भरकर ले गई। इनमें प्रॉपटी, चेकबुक, पासबुक समेत कई दस्तावेज शामिल हैं। इनकी जांच की जाएगी।

जांच अधिकारी सलिल शर्मा ने बताया, पंकज श्रीवास्तव उर्फ मिंटू (48) पिता रामजन्म श्रीवास्तव बगडोना तहसील घोड़ाडोंगरी जिला बैतूल के विद्यालय रेंगा ढाना प्राइमरी टीचर हैं। वे भोपाल के डी-413 मिनाल रेजीडेंसी में रहते हैं। मंगलवार सुबह 7 बजे टीम ने मिनाल और एमजीएम कॉलोनी बगडोना स्थित उनके निवास पर एक साथ छापा मारा। लॉकर्स की जांच करवा रहे हैं।

तलाशी के एक दौरान टीम ने एक-एक सामान को खोलकर देखा।
तलाशी के एक दौरान टीम ने एक-एक सामान को खोलकर देखा।

आरोपी के पास कुल 24 संपत्तियों की जानकारी मिली है। इनमें मिनाल रेसीडेंसी में डुप्लैक्स, समरधा में प्लाॅट पिपलिया में एक एकड़ भूमि, छिंदवाड़ा में 6 एकड़ जमीन, बैतूल में 8 आवासीय प्लाॅट, 6 दुकान बगडोना में व 10 अलग-अलग गांवों में कृषि भूमि कुल 25 एकड़ होना पाया गया है। कुल कीमत करीब 5 करोड़ रुपए की संपत्ति होने का पता चला है। टीम को यहां से करीब 30 हजार रुपए नकदी मिले। इनकी जांच के बाद रुपए वापस कर दिए।

10 सदस्यीय टीम जानकारी जुटा रही

भोपाल में पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में अपराध क्र 54/2021 धारा 13(1)(ब) 13(2),12 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद निरीक्षक सलिल शर्मा, मुकेश तिवारी, वीके सिंह, मयूरी गौर की 10 सदस्यीय टीम कार्रवाई की। पंकज के दो बेटियां और एक बेटे बुरहानपुर की एक मंहगी अकादमी में पढ़ाई करती हैं। पुलिस उनके खर्चे की जानकारी जुटा रही है।

इसी मकान में टीम ने सुबह 6 बजे दबिश दी।
इसी मकान में टीम ने सुबह 6 बजे दबिश दी।

ब्याज पर लगाता था पैसा

कार्रवाई के दौरान पंकज ने बताया कि उसने यह रुपए अपनी मेहनत से व्यापार में कमाई है। उसके पिता के रिटायर होने पर काफी पैसा मिला था। पता चला है कि पंकज के पिता डब्ल्यूसीएल में कोयला कामगार था। वह 3 साल पहले ही रिटायर हुए हैं। जानकारी के मुताबिक पंकज पिछले करीब 30 साल से बड़े पैमाने पर अवैध रूप से ब्याज पर लगाता था। ज्यादातर वह पैसा नहीं देने पर सामने वाले की जमीन हड़ ले लेता था। सूत्रों के अनुसार छिंदवाड़ा में उसने एक शख्स को पैसा ब्याज पर दिया था। पैसा नहीं चुकाने पर उसने उस शख्स की 5 एकड़ जमीन ले ली। बाद में वहां कोयले की खदानें खुल गईं। यहां से मुआवजे के रूप में भी उसे काफी पैसा मिला था।

खबरें और भी हैं...