हमीदिया अस्पताल में मीडिया एंट्री बैन:सिक्योरिटी ऑफिसर बोला- अस्पताल प्रबंधन की तरफ से मिले निर्देश; डीन ने कहा- हमने आदेश नहीं दिया

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हमीदिया अस्पताल के गेट पर तैनात प्राइवेट सुरक्षा कर्मी। - Dainik Bhaskar
हमीदिया अस्पताल के गेट पर तैनात प्राइवेट सुरक्षा कर्मी।

गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) से संबद्ध हमीदिया अस्पताल में मीडिया की एंट्री पर रोक लगा दी है। प्रबंधन ने मुख्य गेट पर प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड को तैनात कर दिया है। इस निर्णय को हमीदिया अग्नि कांड के बाद अस्पताल में लापरवाही की खुल रही पोल को दबाने को बताया जा रहा है।

मामले में सिक्योरिटी गार्ड का कहना है कि अधीक्षक और डीन कार्यालय से मीडिया कर्मियों को बिना इजाजत अंदर नहीं जाने देने के निर्देश है। वहीं, मामले में डीन डॉक्टर अरविंद राय का कहना है कि उनकी तरफ से इस संबंध में आदेश नहीं दिए गए हैं। वहीं, अधीक्षक दीपक मरावी का कहना है कि उनके पास सिर्फ अस्पताल की जिम्मेदारी है।

नीट-पीजी काउंसलिंग में देरी के विरोध में राष्ट्रव्यापी आंदोलन का गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के जूनियर डॉक्टर ने समर्थन किया है। जूनियर डॉक्टर्स ने ओपीडी और ओटी सेवाएं बंद कर दी है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं दे रहे हैं। इसको लेकर मंगलवार सुबह मीडिया कर्मी अस्पताल पहुंचे थे। जिनको अस्पताल के मुख्य गेट पर ही प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड ने रोक दिया। उन्होंने कहा कि बिना इजाजत के मीडिया कर्मियों को अंदर प्रवेश की इजाजत नहीं है।

हमीदिया अस्पताल में निजी सुरक्षा एजेंसी के सिक्यारिटी ऑफिसर रवि गुप्ता ने कहा कि उनको अस्पताल प्रबंधन की तरफ से परिसर में मीडिया को नहीं जाने देने के आदेश है। लिखित अनुमति होने पर ही मीडिया को अंदर जाने देंगे।

हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. दीपक मरावी ने कहा कि उनके पास अस्पताल के संचालन की जिम्मेदारी है। प्रवेश को लेकर उनकी तरफ से कोई आदेश नहीं दिए गए है।

वहीं, गांधी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉक्टर अरविंद राय ने कहा कि मीडिया के प्रवेश बंद करने को लेकर उन्होंने कोई आदेश नहीं दिए है। इस संबंध में उनको कोई जानकारी नहीं है। वहीं, उन्हाेंने कहा कि जूनियर डॉक्टरों को हड़ताल को लेकर समझाइस दी है।