• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Titel; Madhya Pradesh Electricity Crisis; Digvijay Singh Hits Out At Shivraj Singh Chouhan, Narottam Mishra On Rain And Coal Supply

सरकार ने स्वीकारा MP में बिजली संकट:गृह मंत्री बोले- कम बारिश और कोयले की सप्लाई प्रभावित होने से आई दिक्कत; 5 दिन में सब ठीक हो जाएगा

मध्य प्रदेशएक वर्ष पहले
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा- फाइल फोटो।

सरकार ने स्वीकार किया है कि मध्यप्रदेश में बिजली का संकट है। सरकार के प्रवक्ता एवं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को कहा कि बिजली संकट की वजह बारिश कम होने से बांधों में पर्याप्त पानी नहीं है। साथ ही कोयले की कमी और प्लांट में तकनीकी दिक्कत के कारण बिजली का उत्पादन प्रभावित हुआ है। इसे 5 दिन में ठीक कर लिया जाएगा।

बिजली की अघोषित कटौती के खिलाफ कांग्रेस के आंदोलन को लेकर गृहमंत्री ने मीडिया को बताया कि जनता को मालूम है शिवराज सरकार ने ही प्रदेश को दिग्विजय शासन काल के अंधेरे से निकाला है। बिजली कटौती के संबंध में बीजेपी विधायक के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र पर उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि जनभावाओं से सरकार से अवगत कराते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सभी का अपनी बात रखने का अपना अंदाज होता है।

बता दें कि प्रदेश में अघोषित बिजली कटौती को लेकर कांग्रेस बड़े आंदोलन की तैयारी कर रही है। ग्रामीण इलाकों में 10 से 15 घंटे तक बिजली बंद होने से सबसे ज्यादा किसान परेशान हैं। दरअसल, प्रदेश में रबी का सीजन आने वाला है। इसके चलते अक्टूबर से बिजली की डिमांड बढ़ जाएगी। प्रदेश में रबी सीजन में यह डिमांड बढ़कर 16 से 17 हजार मेगावाट हो जाएगी। ऐसे में बिजली का उत्पादन कम हुआ तो बिजली संकट गहराने के पूरे आसार हैं।

हिंदुओं की भावनाओं को आहत करती है कांग्रेस
पीसीसी के बाहर कमलनाथ का श्री कृष्ण के रूप में पोस्टर लगाने पर गृह मंत्री ने कहा कि धर्म का मखौल उड़ाने का पूरी कांग्रेस ने मन बना लिया है। पहले सोनिया गांधी को दुर्गा के रूप में प्रस्तुत किया और अब कमलनाथ को कृष्ण बना दिया। इससे मूल राष्ट्रवाद और हिंदुओं की भावनाएं आहत होती हैं। महान भारत को यह बदनाम भारत बोलते हैं। कांग्रेस की यह सोच जनता के सामने आ रही है।

कांग्रेस सिर्फ सोशल मीडिया पर राजनीति करती है
गृह मंत्री ने इंदौर की घटना को लेकर कांग्रेस के आरोपों पर कहा कि कांग्रेस सिर्फ सोशल मीडिया पर राजनीति करती है। इंदौर में अलमतश पर कार्यवाई करने पर दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर कहा कि जिसने गलती की है, उस पर कार्रवाई हुई है। उन्होंने सवाल उठाया कि दतिया की घटना पर दिग्विजय सिंह ने ट्वीट क्यों नहीं किया? जिसमें एक अल्पसंख्यक को कांग्रेस नेता ने मार दिया। 15 महीने में कमलनाथ की सरकार ने मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया है।

खबरें और भी हैं...