LIVE अपडेट्स मध्य प्रदेश:इंदौर में पति ने पत्नी-11 साल के बेटे का गला रेता, भोपाल में सेंट जेवियर स्कूल के 5वीं के स्टूडेंट ने की खुदकुशी

मध्य प्रदेश4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल के स्टेशन बजरिया इलाके में पांचवीं के छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सुसाइड नोट नहीं मिलने से घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। बच्चा मोबाइल में फ्री फायर गेम खेलने का आदी था। जानकारी के मुताबिक शंकराचार्य नगर बजरिया में रहने वाले योगेश ओझा का 11 साल का बेटा सूर्यांश सेंट जेवियर स्कूल, अवधपुरी में पांचवीं का छात्र था। बुधवार को उसने तीसरी मंजिल की छत पर बॉक्सिंग टेरिस में फंदे पर झूल गया।

इंदौर में महिला और 11 साल के बेटे की हत्या

इंदौर के बाणगंगा इलाके में पति ने अपनी पत्नी और 11 साल के बेटे की गला रेतकर हत्या कर दी। परिवार महाराष्ट्र के अकोला का रहने वाला है। काम की तलाश में चार दिन पहले ही इंदौर आए थे। घटना के बाद आरोपी पति फरार है।

TI राजेन्द्र सोनी के मुताबिक घटना गणेश धाम कॉलोनी की है। बुधवार शाम करीब साढ़े चार बजे के लगभग मंगेश अपने घर पहुंचा था। तभी उसने 11 साल के आकाश डेंगे और उसकी मां शारदाबाई डेंगे का शव कमरे में पड़ा देखा। मामले में उसने अपने मकान मालिक गुर्जर को सूचना दी। जिसके बाद डॉयल 100 पर कॉल कर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस के मुताबिक हत्या महिला के पति कुलदीप ने की है। उसकी तलाश की जा रही है।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक पर सीएम शिवराज का सवाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पंजाब में पीएम की सुरक्षा के साथ साजिश की जा सकती है, यह कोई कल्पना नहीं कर सकता था। यह कोई चूक नहीं है। आखिर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक कैसे हो सकती है, जब तक चूक ना की जाए। एसएचओ-डीएसपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूट की पूरी जानकारी आला अफसरों को दी थी। उसे नजरअंदाज कर दिया गया। यह खुलासा सिद्ध करता है कि सुरक्षा में जो कुछ हुआ वह लापरवाही नहीं, बल्कि मिलीभगत थी।

यह कोई संयोग नहीं, यह खूनी साजिश थी। षड्यंत्र था। यह कुदरती नहीं पहले से प्रायोजित घटना थीl मोदी से नफरत में कांग्रेस की आत्मा को मार दिया। घटना के 7 दिन बाद मैं मैडम सोनिया गांधी से सवाल पूछना चाहता हूं। देश जानना चाहता है। पीएम के साथ सीएम क्यों नहीं थे, डीजीपी क्यों नहीं थे? प्रधानमंत्री के रूट की जानकारी प्रदर्शनकारियों को किसने दी?

एक सवाल यह भी उठता है, घटना के समय सीएम फोन क्यों नहीं उठा रहे थे? गृह मंत्रालय के अधिकारियों के फोन नहीं उठा रहे थे। आखिर मुख्यमंत्री किस घटना का इंतजार कर रहे थे। इससे साफ जाहिर होता है कि साजिश के तार सीधे कांग्रेस के आलाकमान से जुड़ते हैं।

जबलपुर में मिला कटा हुआ सिर, धड़ तलाश रही पुलिस

जबलपुर में कटा हुआ सिर मिला है। पनागर पुलिस के मुताबिक युवक का अभी धड़ नहीं मिला है। सिर मिलने के बाद से पुलिस धड़ की तलाश में जुटी है। मौके पर डॉग स्क्वॉड टीम को भी बुलाया गया है। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि युवक दो दिन से लापता था। युवक की पहचान नरेश कुमार मिश्रा (38) पुत्र इंद्र कुमार मिश्रा निवासी मचला गांव के रूप में हुई है।

जबलपुर के पनागर में युवक का कटा हुआ सिर मिला है।
जबलपुर के पनागर में युवक का कटा हुआ सिर मिला है।