• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh (MP) Coronavirus Cases Analysis Update; Positivity Rate Reduced By 4.5% In 10 Days

MP में कोराेना से राहत:10 दिन में पॉजिटिविटीे रेट 5% घटा तो नए संक्रमितों से 1,363 ज्यादा ठीक होने वाले बढ़ गए, 3,294 एक्टिव केस का बोझ भी कम हुआ

मध्यप्रदेश5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश में कोरोना के कहर के बीच राहत देने वाली खबर यह है कि पिछले 10 दिन में नए संक्रमितों से ज्यादा मरीज स्वस्थ हुए हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 25 अप्रैल से 4 मई तक प्रदेश में 1,25,681 पॉजिटिव केस मिले, जबकि इस दौरान 1,27,044 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए। अप्रैल माह में हर दिन एक्टिव केस बढ़ते गए, लेकिन 26 अप्रैल के बाद से इसमें गिरावट शुरू हो गई है।

प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 89 हजार 240 है। अनुमान लगाया जा रहा था कि 30 अप्रैल तक यह 1 लाख हो जाएगी, लेकिन इस बीच संक्रमण की रफ्तार स्थिर हो गई। हर दिन 12 से 13 हजार केस मिल रहे हैं। पिछले 10 दिन के आंकड़ों को देखें तो इस दौरान 3,294 एक्टिव केस कम हुए। इससे अस्पतालों पर दबाव भी कम होना शुरू हो गया है। कोरोना का 10 दिन का ट्रेंड देखें तो एक्टिव केस 4 दिन में 8,403 बढ़े, लेकिन 6 दिन में 8,526 कम हो गए।

इधर, 24 घंटे में प्रदेश के 4 बड़े शहरों में 5 हजार 266 नए केस सामने आए हैं। 28 की मौत भी हुई है। इंदौर में सबसे ज्यादा मरीज 1792 आए हैं और स्वस्थ 2697 भी हुए हैं। 8 संक्रमितों ने दम ताेड़ दिया है। भोपाल में 1584 नए संक्रमित मिले, जबकि 6 की मौत हुई है। 1 हजार 586 स्वस्थ हुए हैं। वहीं, जबलपुर में 4 हजार 787 सैंपल की जांच में 870 नए के आए हैं। यहां भी 6 की जान गई है, 813 स्वस्थ हुए हैं। ग्वालियर में 4 हजार 126 सैंपल में से 1020 पॉजिटिव आए हैं। सबसे ज्यादा यहां 8 की मौत हुई है। 1167 डिस्चार्ज किए गए हैं।

पॉजिटिविटी रेट 5% घटा
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक पॉजिटिविटी रेट यदि 3 से 5% के बीच में है तो माना जाएगा कि कोरोना कंट्रोल में है, लेकिन मध्यप्रदेश में यह फिलहाल 18% से ज्यादा है, राहत की बात यह है कि पिछले 19 दिन में प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 5% घट गया है। हालांकि 1 अप्रैल को यह 10 से 11% के बीच रहा, लेकिन इसके बाद संक्रमण की रफ्तार पूरे महीने कम नहीं हुई।

एक दिन में रिकार्ड 66 हजार से ज्यादा जांच

प्रदेश में 4 मई को 66,283 सैंपल टेस्ट की रिपोर्ट जारी हुई। ये एक दिन में सबसे अधिक टेस्ट का रिकार्ड है। हालांंकि 25 अप्रैल से 4 मई तक हर दिन 54 हजार से 66 हजार के बीच टेस्ट हुए। इसमें हर दिन 12 से 13 हजार के बीच पॉजिटिव केस मिले। आंकड़ों के मुताबिक 25 अप्रैल को टेस्ट रिपोर्ट में हर चाैथा सैंपल पॉजिटिव था। जबकि 4 मई को हर पांचवा सैंपल पॉजिटिव है।

जबलपुर में 112% और भोपाल में 111% रिकवरी

10 दिन के कुल आंकड़े देखें तो प्रदेश के चारों बड़े शहरों में रिकवरी के मामले में जबलपुर सबसे आगे हैं। यहां संक्रमित मरीजों की तुलना में 112% रिकवरी रेट है। भोपाल 111% के साथ दूसरे नंबर पर है। इंदौर में 97% और ग्वालियर में रिकवरी संक्रमितों की संख्या की तुलना में 83% है।

10 दिन में 857 मौतें
प्रदेश में पिछले 10 दिन में कोरोना से 857 मौतें हो चुकी हैं। एक दिन में सबसे अधिक रिकार्ड 105 मौतें 27 अप्रैल को हुई, जबकि 1 मई को मौतों का आंकड़ा 102 पहुंच गया था, लेकिन इसके बाद तीन दिन तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 100 से कम रही यह सरकारी आंकड़े हैं, जबकि इससे 6 गुना अधिक शवों का अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल के तहत किया गया।

खबरें और भी हैं...