• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh Vaccination In Mp Chief Minister Shivraj Singh Warned Bhopal, Indore, Jabalpur

मुख्यमंत्री ने कोरोना पर चेताया:शिवराज बोले- असावधानी बरती तो फिर प्रतिबंध लगाने पड़ सकते हैं; वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाएं

भोपाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चेताया है कि यदि कोविड नियमों का पालन नहीं किया गया और असावधानी बरती तो फिर से प्रतिबंध लगाने पड़ सकते हैं। मुख्यमंत्री ने गुरुवार शाम प्रदेश की जनता को दिए संदेश में कहा कि कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज अनिवार्य रूप से लगवाएं। इसके लिए अभियान भी चलाया जा रहा है। बता दें कि सरकार ने कोरोना को रोकने के लिए लगाए गए सभी प्रतिबंध हटा लिए हैं।

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संदेश में वैक्सीनेशन की बढ़ती रफ्तार के लिए डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में कोविड की स्थिति सामान्य होने के बाद पाबंदियां हटा दी गई। मध्य प्रदेश में कोविड संक्रमण नियंत्रित हैं। आज 7 नए केस आए हैं, एक्टिव केस 79 हैं।

ऐसे में सभी प्रतिबंधों को समाप्त करने का फैसला किया। सीएम ने कहा कि इसके बाद भी प्रार्थना है कि सावधान रहिए। यूरोप के देशों में कोविड बढ़ रहा है। मृत्यु भी हो रही है। अगर, हम असावधान रहे, तो फिर प्रतिबंध लगाने पड़ सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं अपील कर रहा हूं कि मास्क लगाना मत छोड़ना। दूरी बनाएं रखें, हाथ धोएं। रोज 70 हजार टेस्ट होंगे, जिससे संक्रमण थोड़ा भी बढ़े तो पता चल जाएगा। अगर आपको जरा भी लगे तो कोविड टेस्ट करवाएं। मैं प्रति शुक्रवार कोविड टेस्ट करवाता हूं। सरकार फ्री में यह टेस्ट कर रही है। सीएम ने कहा कि कोविड वैक्सीन का दूसरा डोज जरूर लगवाना है।

दिसंबर के अंत तक बिना दूसरे डोज के नहीं रहना चाहिए। दुकानदार, शिक्षक, स्कूल का स्टाफ, 18 वर्ष के ऊपर के बच्चे, सामाजिक, राजनीतिक कार्यकर्ता, स्वयं सेवियों से अनुरोध है कि खुद भी दूसरा डोज लगवाएं। अब फिर से हमें पहले जैसी परिस्थितियां नहीं बनने देना है।

कॉलेज 100% उपस्थिति के साथ खुलेंगे

उच्च शिक्षा विभाग ने 18 नवंबर से कॉलेजों को 100% उपस्थिति के साथ खोलने के आदेश जारी कर दिए। आदेश में स्नातक पीजी सभी के हॉस्टल खोलने और मैस की सुविधा के साथ लाइब्रेरी भी शुरू करने को कहा गया है। छात्रावास में सभी छात्रों, शिक्षक और स्टाफ को वैक्सीन के दोनों डोज लगाना अनिवार्य है।

कॉलेज के प्रिंसिपल यह सुनिश्चित करेंगे कि शैक्षणिक, अशैक्षणिक कर्मचारी-अधिकारी और छात्र-छात्राएं जिनके दोनों डोज नहीं लगे हैं, उनको दोनों टीके लगाए जाएं। जिन बच्चों की उम्र 18 वर्ष पूर्ण नहीं हुई है। ऐसी स्थिति में उनका वैक्सीनेशन नहीं हुआ है, फिर भी उन्हें कॉलेज जाने की अनुमति रहेंगी।

खबरें और भी हैं...